05 October: अरब देशों की 10 बड़ी खबरें जानिए विस्तार से !

1. सऊदी अरब से अभी पैसा भारत भेजने के लिए जानिए आज 5 तारीख का Riyal Exchange Rate

त्वरित (बैंक अल जज़ीरा): 21 रुपये 24 पैसे, शुल्क: 10 रियाल
एसटीसी वेतन: 21 रुपये 21 पैसे, शुल्क: 17.25 रियाल
अल-राझी बैंक (अल-राझी बैंक): 21 रुपये 48 पैसे, शुल्क: 20 रियाल
वेस्टर्न यूनियन (भेजना): 21 रुपये 36 पैसे, शुल्क: 17.25 रियाल
मनी ग्राम: 21 रुपये 25 पैसे, शुल्क: 23 रियाल
अंजाज़ बैंक (बैंक अल-अलबाद): 21 रुपये 43 पैसे, शुल्क: 15 रियाल

2. “Dubai Hindu Temple” का हुआ उद्घाटन !

दुबई का नया हिन्दू टेम्पल का कल 4 अक्टूबर को उद्घाटन हो गया. सिंधु गुरु दरबार मंदिर के ट्रस्टी राजू श्रॉफ ने बताया कि मंदिर आज 5 अक्टूबर को हिन्दू के सबसे बड़े त्योहारों में से एक दशहरा के दिन officially श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया.

dht

3. उमराह कंपनी और सभी संस्थान तीर्थयात्रियों की करें ज़बरदस्त सेवा, कोई लापरवाही वरना…

सऊदी अरब के हज और उमराह मंत्रालय ने कहा है कि उमराह कंपनियों को उमराह यात्रा को आसान बनाना चाहिए और ज़ायरीनों को अच्छी सेवा देनी चाहिए। मंत्रालय ने सभी उमराह कंपनियों और संस्थानों को तीर्थयात्रियों के लिए उमराह परमिट जारी करने और रियाद अल-जिन्ना में नमाज़ के लिए परमिट जारी करने और नियत समय पर अल-हरम मस्जिद में डिलीवरी की व्यवस्था करने के लिए कहा है.

सभी तीर्थयात्रियों को ग्रुप में मस्जिद अल-हरम ले जाना चाहिए। मंत्रालय ने उमराह कंपनियों और संस्थानों से कहा कि अगर उमराह तीर्थयात्री मक्का में रहने के दौरान एक से अधिक बार उमराह करना चाहता है, या यदि वह मदीना में रहने के दौरान रियाज अल-जिना में एक से अधिक बार इबादत करना चाहता है, तो वह उमराह के लिए और रियाज़ अल-जिन्ना, नमाज़ के लिए परमिट जारी करने में कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

उमराह कंपनियों और संस्थानों के प्रदर्शन पर नजर रखा जा रहा है। फील्ड टीमें स्थिति का आकलन कर रही हैं। मैकेनाइज्ड सिस्टम के तहत मॉनिटरिंग भी की जा रही है. “फील्ड कंट्रोलर टीमों को मस्जिद अल-हरम और मस्जिद-ए-नबावी के आसपास स्थित केंद्रों पर मौजूद रहने और तीर्थयात्रि अगर उललंघन करते हैं तो उसे दर्ज करने का निर्देश दिया है.

4. प्रतापगढ़ का युवक इबरार खान 13 साल से सऊदी अरब में ! परिवार रो-रोकर लगा रहा भारतीय दूतावास से गुहार, क्या है मामला

प्रतापगढ़ के रहने वाले एक व्यक्ति सऊदी अरब में इस कदर फंस चुके हैं कि उनका लौटकर आना बहुत मुश्किल हो गया है. आसपुर देवसरा थाना क्षेत्र के भीखमपुर गांव का रहने वाला इबरार खान के परिवार की आँखे थक गयी उसकी राह देखते देखते। मगर अब तक वो नहीं आया है. तीन माह से उसकी परिवार के लोगों से बातचीत नहीं हुई।

परिवार को डर है कि इबरार के साथ सऊदी अरब में कोई घटना तो नहीं हो गयी इसी आधार पर वे भारतीय दूतावास से भी गुहार लगा रहे हैं कि इबरार को किसी तरह भारत ले आया जाए. इबरार के भाई इसरार अहमद ने शिकायत पात्र भेजा है और उसमे कहा है कि उसका भाई इबरार खान वीजा लेकर सऊदी अरब के लाइफ शहर कमाने गया था। सऊदी में 13 साल से वह काम कर रहा है. सात जुलाई को उसका घर पर फोन आया और बताया कि कंपनी उसे सैलरी नहीं दे रही है जबकि काम वो रोज़ाना कर रहा है.

अगर सैलरी मांगी जाये तो कंपनी मारपीट करने लगता है बस इतनी ही बात बतायी और तब से इबरार से कोई संपर्क नहीं हो रहा. मोबाइल फ़ोन भी बंद है उसका लगातार। सऊदी अरब स्थित भारतीय दूतावास व मुंबई दूतावास में शिकायत की गई, मगर कोई नतीजा नहीं निकला। भाई के लिए परेशान इसरार ने पुलिस अधीक्षक से लेकर विदेश मंत्रालय भी पत्र भेजा है।

ibrar khan

5. UAE Labour Law: अगर कोई कामगार सार्वजनिक छुट्टी में करता है काम तो क्या है अधिकार, एक क्लिक में जानिए

UAE के सार्वजनिक और निजी क्षेत्र में काम करने वाले नागरिकों और प्रवासियों के लिए नई छुट्टी की घोषणा हुई है और ये छुट्टी ईद मिलाद उन नबी के अवसर पर दी गयी है। मानव संसाधन और अमीरात मंत्रालय (MOHRE) ने जानकारी दी है कि शनिवार, 8 अक्टूबर, 2022 को ईद मिलाद उन नबी के अवसर पर सार्वजनिक और निजी क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों के लिए पेड लिव दिया जाएगा.

ऐसे में आज हम आपको जानकारी देने जा रहे हैं। अगर आप सार्वजनिक अवकाश पर काम करते हैं, तो इस अवधि के दौरान काम करने के लिए मुआवजे के मामले में आपके क्या अधिकार हैं.

जानिए छुट्टियों के दौरान क्या काम करने पर मिलेगा मुआवजा

1. कामगार सार्वजनिक छुट्टियों पर पूरे वेतन के साथ आधिकारिक दिनों की छुट्टी का हकदार होगा, जिसे कैबिनेट के एक प्रस्ताव द्वारा परिभाषित किया गया है।

2. अगर कोई कामगार किसी सार्वजनिक छुट्टी के दौरान काम करता है, तो कंपनी उसे प्रत्येक दिन के लिए एक और दिन की छुट्टी के साथ मुआवजा देना पड़ेगा, जिस दिन वह छुट्टी के दौरान काम करता है, या उस दिन के लिए मजदूरी के अनुसार मजदूरी का भुगतान करेगा.

3. इसके साथ ही उस दिन के मूल वेतन के कम से कम 50 प्रतिशत की वृद्धि के साथ मिलेगा, हालांकि यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि किसी कामगार पर लागू होने वाले मुआवजे के लिए कुछ शर्तें हैं जिन्हें पूरा करने की आवश्यकता है.

अल सुवेदी एंड कंपनी के वरिष्ठ सहयोगी सुनीर कुमार ने कहा कि “UAE Labour Law संख्या 33/2021 का अनुच्छेद 28 सभी कर्मचारियों पर लागू होता है। चाहे कोई भी श्रेणी या ग्रेड हो नियोक्ता ने कामगार से काम करने का अनुरोध किया हो या काम की आवश्यकता की आवश्यकता हो.

4. कोई कामगार अनुमति के साथ सार्वजनिक अवकाश के दौरान काम करने के लिए अपने नियोक्ता से छुट्टी के प्रत्येक दिन के बदले में एक दिन के आराम के साथ मुआवजा देने का हकदार रहेगा। या फिर कामगार को उस दिन के संबंध में मजदूरी का भुगतान किया जाएगा और अतिरिक्त रूप से कम से कम 50 प्रतिशत से अधिक का भुगतान किया जाएगा।

5. यदि आप संयुक्त अरब अमीरात श्रम कानून के आधार पर अपने अधिकारों के बारे में पूछताछ करना चाहते हैं, या आपको मिलने वाले मुआवजे से संबंधित शिकायतें उठाना चाहते हैं, तो ऐसा करने का सबसे आसान तरीका मानव संसाधन मंत्रालय से संपर्क करना है।

workerss

6. अगर अपने पासपोर्ट के लिए Documents जमा करना चाहते हैं तो जानिए Online Process !

सऊदी पासपोर्ट विभाग ने पिछले साल से ऑनलाइन सेवाओं में बहुत सारे बदलाव किए हैं, जिससे इकामा और निकास वीजा अवधि के एक्सटेंड में काफी सुविधा हुई है. परमिट अधिनियम के अनुसार विदेशी कामगारों की जानकारी को अपडेट रखने के लिए एक ऑनलाइन सिस्टम भी शुरू की गई है ताकि दूर रहते हुए भी लाभ उठाया जा सके।

आव्रजन कानूनों के तहत, इकामा धारकों को अपना पासपोर्ट नवीनीकृत करने के बाद एक नया पासपोर्ट के लिए आवेदन करना ज़रूरी है. ऑनलाइन सिस्टम से जानकारी कॉपी करने में भी काफी सुविधा हो गई है, अब पासपोर्ट रिन्यू कराने के बाद दूर रहकर भी ऑनलाइन ‘जानकारी कॉपी’ कर सकते हैं. जवाज़त के ट्विटर पर एक व्यक्ति ने पूछताछ की, ‘कार्यकर्ता अपने गृह देश में छुट्टी पर चला गया है जहां उसका पासपोर्ट समाप्त होने के बाद नवीनीकृत किया गया है, क्या वह नए पासपोर्ट पर देश में प्रवेश कर सकता है, जबकि बाहर निकलने का वादा अवधि अभी भी बची है जिसे जारी किया गया था पुराना पासपोर्ट नंबर?’

जवाब में जवाज़ात ने कहा कि विदेशी कामगार के पासपोर्ट के नवीनीकरण के बाद कार्यकर्ता के प्रायोजक अपने अबशर खाते के जरिए श्रमिक के पासपोर्ट की डुप्लीकेट जानकारी भेज सकते हैं. कार्यकर्ता के प्रायोजक को अपने अबशर खाते के माध्यम से ‘तवास्वाल’ सेवा का उपयोग करते हुए प्राधिकरण प्रणाली में कार्यकर्ता के नए पासपोर्ट की जानकारी फीड करनी चाहिए ताकि कार्यकर्ता की वापसी के मामले में कार्यकर्ता को हवाई अड्डे पर किसी भी समस्या का सामना न करना पड़े।

7. Dubai Expo में कल 5 से 8 अक्टूबर तक इन लोगों को मिलेगी Free Entry !

दुबई एक्सपो की शुरुआत एक साल बाद फिर से 1 अक्टूबर से हो चुकी है. वहीँ अब विश्व शिक्षक दिवस मनाने के लिए एक्सपो सिटी दुबई शिक्षकों को कल 5 अक्टूबर से 8 अक्टूबर तक मुफ्त टिकट देने का ऐलान किया है. शिक्षक और शिक्षण सहायक जो एक्सपो 2020 विरासत स्थल का दौरा करना चाहते हैं, वे किसी एक टिकट बूथ पर अपने फ्री पास का दावा कर सकते हैं।

टिकट flagship attractions, including Terra, Alif, Vision, and Women’s Pavilions तक का पहुंचने तक का मौका देग. एक्सपो सिटी दुबई के लिए एक नियमित एक दिन के पास की कीमत Dh120 है। 12 साल से कम उम्र के बच्चे और लोगों का प्रवेश मुफ्त है.

dubai expo entry

8. दुबई में भारतीय कामगार बना करोड़पति ! करते हैं कार कंपनी में हेल्पर का काम

अबुधाबी ड्रा में एक बार फिर से भारतीय ने बाज़ी मार ली. भारतीय प्रवासी प्रदीप ने 20 मिलियन दिरहम का इनाम अपने नाम कर लिया है। वह एक कार कंपनी में हेल्पर के तौर पर काम करते हैं. उन्होंने अपने 20 साथियों के साथ मिलकर टिकट खरीदा था और आखिरकार जीत गए.

बताते चलें कि 24 वर्षीय प्रदीप दक्षिण भारतीय राज्य केरल के मूल निवासी हैं। वह जेबेल अली में एक कार कंपनी में हेल्पर का काम करते हैं। वह पिछले 7 महीनों से दुबई में रह रहे हैं और करीब 20 साथियों के साथ मिलकर उन्होंने टिकट खरीदा था। प्रदीप ने बताया कि उन्हें यकीन नहीं हो रहा है कि उन्होंने इतना सारा रकम जीत लिया है। अभी फिलहाल उन्होंने इसे कहां खर्च करना है इस पर कोई विचार नहीं किया है.

9. सऊदी में 4 महिलाओं ने अवैध तरीके से किया बॉर्डर पार !

सऊदी अरब के 4 अवैध इथियोपियाई महिलाओं को कार में ले जाने के आरोप में बिशा पुलिस ने एक नागरिक को गिरफ्तार किया है. रिपोर्ट के मुताबिक महिलाओं को निर्वासन की संस्था और नागरिक को सार्वजनिक अभियोजन के लिए सौंप दिया गया है।

जाजान क्षेत्र पुलिस ने बताया है कि बीशा में एक वाहन को संदेह के आधार पर रोका गया, जिसमें 4 महिलाएं सवार थीं. “जांच करने पर, यह पाया गया कि कार का मालिक एक सऊदी नागरिक है और उसमें सवार महिलाओं ने बॉर्डर पार कर अवैध रूप से देश में प्रवेश किया।”

बता दे कि ऐसे गंभीर अपराध करने पर एक नागरिक को 15 साल तक की कैद और 10 लाख रियाल तक का जुर्माना हो सकता है। पुलिस ने कहा है कि “किसी भी तरह से अवैध अप्रवासियों की सुविधा, सहायता या सहयोग करना” एक गंभीर अपराध है.

arrested

10. सऊदी अरब में Driver भी अब होंगे Uniform में, नया नियम लागू !

ट्रांसपोर्ट जनरल अथॉरिटी (TGA) ने TAXI ड्राइवरों को Uniform पहनना ज़रूरी कर दिया गया है। ये नियम 12 जुलाई 2022 से ही लागू कर दिया गया है। अगर कोई ड्राइवर इस नियम का पालन नहीं करता है तो उसपर जुर्माना लगाया जाएगा.

सार्वजनिक टैक्सियों, टैक्सी रूटिंग सेवाओं, गाइडेड वाहनों और टैक्सी एजेंट को भी वर्दी पहनना आवश्यक होगा। टैक्सियों और टैक्सी Agent को नियंत्रित करने वाले नियमों के प्रावधानों का पालन करते हुए, वर्दी पहनना इन गतिविधियों के अभ्यास के लिए एक मुख्य आवश्यकता के रूप में माना जाएगा.

taxi

Leave a Comment