UAE के रेगिस्तान में बने भारी मुशक्कत के बाद 3 शानदार Stadium, इतिहास के पन्नों में छपा… उन्हीं में से आज India Vs Pakistan का मैच

आज एशिया कप 2022 में india Vs Pakistan का मैच होने वाला है और ये महामुकाबला संयुक्त अरब अमीरात खेला जाएगा। इन दो टीमों के एक दूसरे के खिलाफ खेलना लोगों में लोकप्रियता का माहौल पैदा करता है. इसी से जुड़ा एक इतिहास आज आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे india Vs Pakistan के पहले मैच UAE में खेले जाने के बाद वहां एक क्रिकेट स्टेडियम बनकर तैयार हो गया.

stadium

साल 1981, जगह UAE का शारजाह। भारत-पाकिस्तान की टीमें आमने-सामने थीं, लेकिन ग्राउंड के नाम पर सिर्फ बंजर जमीन। दर्शकों के बैठने के लिए मचान बांधा गया था। लेकिन किसी को उम्मीद नहीं थी कि वाकई इन दोनों टीमों की मैच देखने के दर्शक आएंगे मगर स्टेडियम में कुल 8-10 हजार दर्शक पहुंच गए। इस मैच की कामयाबी ने UAE में क्रिकेट की लोकप्रियता की नींव रखी.

एक साल बाद उस बंजर जमीन पर हरा-भरा क्रिकेट स्टेडियम बनकर तैयार हो गया। इतना ही नहीं उसके बाद के आने वाले वर्षों में UAE में दो और हरे-भरे वर्ल्ड लेवल के क्रिकेट स्टेडियम बन गए। आज उन्हीं में से एक दुबई स्टेडियम में भारत-पाक फिर से आमने-सामने हैं. जिनके बीच आज 28 अगस्त को मैच होने वाले हैं. UAE में क्रिकेट स्टेडियम बनाना एक मुश्किल काम था. क्यूंकि रेगिस्तानी इलाकों में घास उगना नामुमकिन सा था और रेगिस्तानी इलाका होने की वजह से मैदान बनाने लायक जगह ही नहीं थी। मगर यही आज आपको बताएँगे कि आखिर रेगिस्तान वाले UAE में तीन बेहतरीन हरे-भरे क्रिकेट स्टेडियम कैसे बने.

india vs pakistan

इसके लिए काफी रिसर्च किया गया। फिर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में चिनाब और रावी नदी के बीच बसे गुजरावाला जिले के नंदीपुर इलाके से मिट्टी मंगाई गई। दो नदियों से घिरे इस इलाके की उपजाऊ जमीन में 66% क्ले यानी चिकनी मिट्टी है/ इस मिट्टी को लेकर ऑस्ट्रेलियाई लैबोरेटरी में रिसर्च किया गया, तो पता चला कि यह ऑस्ट्रेलिया की मिट्टी से काफी हद तक मिलती है। यानी क्रिकेट के लिए मनमाफिक मिट्टी। इस मिट्टी से शारजाह में क्रिकेट की पिच तैयार की गई।

UAE का पहला क्रिकेट स्टेडियम शारजाह में बना

घास अमेरिका के एर्नी एल्स गोल्फ कोर्स से मंगाई गई। मैदान को हरा-भरा बनाने के लिए ग्राउंड पर चारों तरफ 200 मिमी मोटी नंदीपुर की मिट्टी की परत बिछाई गई। इसके ऊपर टिफवे 419 घास का इस्तेमाल किया गया. यह गहरे हरे रंग की बरमूडा घास होती है. 1982 में UAE का पहला क्रिकेट स्टेडियम शारजाह में बना। यहां पहला इंटरनेशनल मैच 1984 में पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच वनडे मैच के रूप में खेला गया। इसके बाद 2004 में UAE के अबू धाबी में और 2009 में दुबई में दो और इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम बने।

dubai stadium

UAE में पहली बार क्रिकेट की एंट्री 19वीं सदी

UAE में पहली बार क्रिकेट की एंट्री 19वीं सदी में अंग्रेजों के जरिए हुई थी। उस समय UAE पर अंग्रेजों का कब्जा था और उसे ट्रुशियल स्टेट्स के नाम से जाना जाता था. 19वीं सदी में रोजगार और रोजी-रोटी की तलाश में बड़ी संख्या में भारत-पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश जैसे भारतीय-उमहाद्वीप के देशों के लोग UAE पहुंचने लगे थे। क्रिकेट इन्हीं लोगों के जरिए UAE में लोकप्रिय हुआ. साल 1971 में UAE अंग्रेजों से आजाद हुआ, लेकिन उससे 2 साल पहले ही वहां क्रिकेट क्लब बन चुका था। नाम था दार्जिलिंग क्रिकेट क्लब। इसे बनाने का श्रेय भी भारत-पाकिस्तान के लोगों को ही जाता है। इसके बाद वहां क्रिकेट और लोकप्रिय होते गया।

Leave a Comment