UAE में मज़दूरों को लेकर Last Warning, सीधे 5 साल की जेल !

यूएई में कंपनियों को श्रमिकों को लेकर Warning हुई जारी, सीधे 5 साल की जेल !

अस्सलाम अलैकुम।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। मैं अंदलीब अख्तर और आप देख रहे हैं UAE Khabar !

दरअसल UAE हुकूमत ने कंपनियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर वे अपने कामगारों या कर्मचारियों साइट पर काम करने के दौरान सुरक्षा नहीं देते हैं और मज़दूरों के साथ कोई हादसा हो जाता है तो ऐसे में कंपनियों पर भारी जुर्माना लगाया जायेगा और लापरवाह दुर्घटनाओं के लिए 5 साल तक की जेल भी हो सकती है !

जी हाँ संयुक्त अरब अमीरात के अधिकारियों ने कंपनियों को स्वास्थ्य और सुरक्षा कानूनों के उल्लंघन के लिए चेतावनी दी है कि लापरवाही के कारण कार्यस्थल दुर्घटना होने पर नियोक्ताओं को पांच साल तक की जेल हो सकती है। रिपोर्ट के अनुसार, यूएई के अधिकारियों ने कंपनियों को चेतावनी दी है कि यदि वे कर्मचारियों के लिए एक सुरक्षित कार्य वातावरण नहीं दे पाए तो उन्हें भारी जुर्माने का सामना करना पड़ेगा। इसलिए UAE के मानव संसाधन मंत्रालय ने कंपनियों से सुरक्षा रखने का आग्रह किया है !

तो आईये अब जानते हैं UAE MOHRE ने कंपनियों से किन ज़रूरी सिद्धांतों का पलायन करने के लिए कहा है ! मगर उससे पहले आप हमारे पेज को फॉलो कर लीजिये ताकि आप तक ज़रूरी जानकारियां पहुँचती रहे या फिर आप हमे Youtube पर देख रहे हैं तो हमारे चैनल को subscribe कर लें जिससे आने वाले हर Videos की Notifications आपको मिलते रहे !

जारी किये सिद्धांतों में सबसे पहला है कि कंपनी को सुनिश्चित कारण होगा कि कार्य क्षेत्रों का उपयोग सामग्री, उपकरण या कचरे के भंडारण के लिए नहीं किया जाता है और मशीनरी के चारों ओर पर्याप्त जगह दी गयी हो ताकि मज़दूर व कामगार स्वतंत्र रूप से आ-जा सकें और चोट से बच सकें।

फिर आता है श्रमिकों को गिरने वाली वस्तुओं से बचाने के लिए आवश्यक सावधानी बरतें।
गड्ढों को भरकर परिसर में खड़े पानी की निकासी करें.
अग्नि सुरक्षा उपकरण प्रदान करें
प्रवेश द्वार और आपातकालीन निकास ज़रूर लगाए

अभी हाल ही में अगस्त महीने में एक हादसा हुआ था जहाँ जेबेल अली, दुबई में एक मज़दूर पर फोर्कलिफ्ट के नीचे गिरने और जमीन पर सोते समय कूल्हे और पैर में चोट लग्ग गयी जिसके बाद कंपनी को कड़ी सजा सुनाई गई थी. साथ ही अमीरात की पुलिस और नगर पालिका की एक रिपोर्ट ने निष्कर्ष निकाला कि कंपनी ने लापरवाही बरती और सुरक्षा प्रक्रियाओं का पालन नहीं किया, जिसके कारण दुबई सिविल कोर्ट ने नियोक्ता को घायल व्यक्ति को 2 लाख दिरहम का मुआवजा देना का आदेश दिया।

एक बार फिर से बता दे कि संयुक्त अरब अमीरात के कानून के अनुच्छेद 342 के तहत नियोक्ताओं को 5 साल तक के कारावास की सजा दी जा सकती है और कार्यस्थल सहित लापरवाही के कारण किसी कर्मचारी के घायल होने या मारे जाने पर जुर्माना लगाया जा सकता है. इसलिए हर एक कंपनी को सावधानी बरतनी चाहिए ताकि सज़ा से वे भी बच सके और बेचारे मज़दूरों की जान खतरे में न आये !

खबर पसंद आयी हो तो एक Like ज़रूर करे और वीडियो को शेयर करना न भूले !

हम लाते रहेंगे ऐसी ही तमाम जानकारियां ।।।।।।।।।।।।।।।।।।। तब तक देखते रहिये UAE Khabar !

Leave a Comment