UAE राष्ट्रपति का बड़ा ऐलान, कल जुमे की रोज़ होगी बारिश की Special नमाज !

संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने शुक्रवार को 11 नवंबर को बारिश की नमाज अदा करने का आह्वान किया है. बता दे कि यूएई की मस्जिदों में स्थानीय समयानुसार सुबह 11:30 बजे विशेष नमाज अदा की जाएगी।

ये विशेष नमाज़ को अरबी में ‘सलात अल इस्तिस्का’ के नाम से जाना जाता है। राष्ट्रपति ने देश और उसके लोगों पर बारिश, दया और बहुतायत भेजने के लिए अल्लाह से दुआएं मांगने को कहा है. ताकि सभी सही सलामत रहे. जैसा कि आपको पता होगा कि संयुक्त अरब अमीरात के कुछ हिस्सों में सोमवार को भारी बारिश हुई थी, जिससे अधिकारियों को कुछ इलाकों में बाढ़ की चेतावनी जारी करनी पड़ी।

UAE राष्ट्रीय मौसम विज्ञान केंद्र (एनसीएम) ने फुजैरा, डिब्बा, रास अल खैमाह और शारजाह के कालबा में भारी बारिश की सूचना दी है। अल बिथना रोड और डिब्बा सहित कई पहाड़ी क्षेत्रों से झरने मसाफी रोड की ओर बह गए। यूएई का बरसात का मौसम, जिसे ‘अल वासम’ के नाम से जाना जाता है, जो 16 अक्टूबर को शुरू हुआ।

मौसम आमतौर पर तापमान में एक महत्वपूर्ण गिरावट, तेज हवाओं और हल्की से भारी बारिश के रूप में चिह्नित होता है क्योंकि यूएई के रेगिस्तान में हरियाली खिलने लगती है। गौरतलब है कि इस साल जुलाई में संयुक्त अरब अमीरात में 27 साल के बाद भीषण बाढ़ आया था. यूएई में अचानक आई बाढ़ से काफी जान माल का नुक्सान हुआ था, मरने वाले लोगों में ज्यादातर एशियाई देशों के हैं। बहुत लोग तो लापता भी हो गए थे.

इस बाढ़ के कारण कई जगहों पर सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई हैं। साथ ही सेना के वाहनों को भी नुकसान पहुंचने की खबर है। सूत्रों ने बताया यह बाढ़ पिछले 27 सालों में सबसे भीषण है। जगह-जगह बाढ़ से कारें व अन्य वाहन बह गए हैं।

मौसम विभाग के अनुसार, पोर्ट सिटी फुजैरा में सबसे ज्यादा 255 मिमी बारिश रिकार्ड की गई। रास अल खेमा के पुलिस प्रमुख मेजर जनरल अब्दुल्ला बिन अलवान अल नुयैमी ने बताया कि बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने के लिए पुलिस की 70 से अधिक गाडि़यां सड़कों और बस्तियों में गश्त किया गया था. वहीँ पहाड़ों और वादियों में बाढ़ में फंसे वाहनों से पुलिस ने करीब 200 लोगों को बचाया गया और जरूरतमंद लोगों को दवाएं और खाना-पानी भी दिया गया था,

यूएई में नवंबर के अंत तक ठंड की शुरुआत होने लगती है और ऐसे में बारिश हो जाए तो निवासियों को मौसम की मर झेलनी पड़ती है. इसलिए UAE हुकूमत ने ख़ास नमाज़ और दुआएं करने की घोषणा करी है और इसमें हर एक मुस्लिमों हिस्सा लेना चाहिए !

Leave a Comment