UAE में भारतीय हिन्दुओं के लिए शादी-तलाक का बना आया कानून ! हटा शरिया कानून

संयुक्त अरब अमीरात के गैर मुस्लिमों खासकर भारतीयों को एक नया अधिकार मिल चूका है. जिसे जानना उनके बहुत काम आ सकता है. जी हाँ आपको बता दे कि UAE में रहने वाले गैर मुस्लिमों को अब शादी, तलाक और संतान का मिल-जुलकर देखभाल का अधिकार मिल गया है. अमीरात के नए कानून के मुताबिक वहां रह रहे गैर मुस्लिमों को ये अधिकार मिले हैं.

shadi

UAE में भारतीयों की अच्छी खासी आबादी

जैसा कि आप जानते हैं होंगे UAE मुस्लिम कंट्री है और वहां इस्लामी कानून लागू हैं. यूएई के अंतर्गत आने वाले सभी सात अमीरात में भारतीयों की अच्छी खासी आबादी रहती है, इसलिए इस नए कानून से बड़ी संख्या में भारतीयों को भी फायदा होने वाला है. शादी ब्याह, तलाक से जुड़े मामलों में अगर किन्ही भारतीयों को कोई दिक्क्त सता रही है तो वे इस पोस्ट को ज़रूर पढ़े ताकि उन्हें आईडिया मिल सके.

जानिए क्या है आखिर नया कानून

बता ये नया कानून अबूधाबी के शेख खलीफा बिन जाएद अल-नाह्यान के आदेश पर लागू हुआ है. नया कानून शादी, तलाक, तलाक के बाद गुजारे के लिए मिलने वाली धनराशि, संतान की मिल-जुलकर देखभाल, पितृत्व और विरासत के मामलों पर लागू होगा. अभी तक देश में इस्लामी शरिया नियमों के तहत ही शादी और तलाक होते थे. मुस्लिमों के लिए शरिया नियम अभी भी लागू हैं लेकिन गैर मुस्लिमों के लिए नया कानून हटा दिया गया है और इस नए कानून को लागू कर दिया गया है.

uae sheikh maktoom

जानिए क्यों किया गया ये बदलाव

नया कानून बनाने का उद्देश्य उदार व्यवस्था बनाकर कुशल पेशेवरों और प्रतिभाओं को यूएई में काम करने के लिए आकर्षित करना है. यूएई के अंतर्गत आने वाले अबूधाबी, दुबई और शारजाह को दुनिया में अहम व्यापारिक केंद्रों के रूप में जाना जाता है. गैर मुस्लिमों के कानून में इस तरह का प्रवधान दुनिया में पहली बार हुआ है. इसके जरिये शासन ने अपनी उदार और सबको साथ लेकर चलने की मंशा जाहिर की है.

स्पेशल कोर्ट में होगी सुनवाई, जानिए प्रोसेस

नए कानून के अनुसार मामलों की सुनवाई करने के लिए एक अदालत अबूधाबी में गठित की जाएगी. इस अदालत में अंग्रेजी और अरबी भाषा में काम होगा. साल 2020 में भी UAE ने अपने कई कानूनों में बदलाव कर गैर वैवाहिक संबंधों और शराब पीने के मामलों में राहत दी. शासन ने लंबे समय का वीजा देने और लंबे समय के लिए रिहायश की सुविधा देने का भी प्रवधान किया है. ताकि विदेशी निवेश और पर्यटक आकर्षित होते रहे.

Leave a Comment