मुस्लिम नियोक्ता ने कहा कि घरेलू कर्मचारियों को मिले छुट्टी और करें इबादत !

UAE में इथियोपिया के एक चर्च पादरी ने आज से 10 साल पहले का एक्सपीरियंस शेयर किया है. उन्होंने कहा कि इथियोपियाई महिला घरेलू कामगारों को कमा पर रखने वाले एक मुस्लिम परिवार से फोन आया था।

दुबई में सेंट माइकल और सेंट आर्सेमा चर्च के प्रशासक फादर डेरेजे जिम्मा ने कहा कि “एक महिला ने प्रार्थना के समय और चर्च के स्थान के बारे में सवाल करते हुए पुछा कि वह अपने घरेलू नौकर को प्रार्थना के लिए चर्च में छोड़ना चाहती है। एक मुसलमान होने के नाते वह इससे परिचित नहीं है और पूछती है, ‘क्या आप मुझे बता सकते हैं कि मैं उसे प्रेयर के बाद कब वापस ले जा सकती हूं?

पादरी ने कहा कि उन महिला नियोक्ताओं में से अधिकांश अमीराती और अन्य अरब नागरिक हैं जैसे मिस्र, लेबनान, सीरियाई और जॉर्डन आदि और उनके चर्च को अभी भी इस तरह के कॉल मिलते हैं। बता दे कि चर्च के पादरी इथियोपियाई रूढ़िवादी तेवाहिडो चर्च के महाप्रबंधक भी हैं. उनका कहना है कि यूएई में रहने वाले अनुमानित 200,000 इथियोपियाई लोगों में से लगभग 50 फीसदी ईसाई हैं। इनमें से अधिकांश ईसाई महिलाएं है जो शादीशुदा नहीं है और वो घरेलू कामगार हैं. एक साप्ताहिक अवकाश और चर्च की प्रार्थनाओं में शामिल होने का अवसर इन महिलाओं के लिए एक बड़ा आशीर्वाद है.

बेशक, वे कहते हैं कि यूएई नेतृत्व देश में सभी कर्मचारियों के कल्याण के लिए प्रगतिशील कानून के बारे में उत्सुक है, विशेष रूप से घरेलू कामगार जो वीकेंड हॉलिडे पाने के हकदार हैं। पादरी ने कहा कि “हालांकि, वास्तविक चुनौती यह है कि इस तरह के कानूनों को प्रभावी ढंग से कैसे लागू किया जाता है और क्या सहिष्णुता व सह-अस्तित्व के ऐसे आदर्श लोगों के दिल और दिमाग में जमीनी स्तर पर शामिल हैं।”

मुस्लिम नियोक्ताओं के फोन कॉल्स ने फादर जिम्मा को आश्वस्त किया है कि UAE इन चुनौतियों से निपटने में सफल रहा है। यदि आप वीकेंड के दौरान मेरे चर्च जाते हैं और मुस्लिम नियोक्ताओं और उनके ईसाई घरेलू कामगारों को अपनी कार में एक साथ आते देखते हैं, तो आप भी आश्वस्त होंगे। यह एक खूबसूरत दृश्य है जिसे आप यूएई के किसी भी चर्च में देख सकते हैं।”

चर्च के फादर कहते हैं कि जब एक ईसाई घरेलू कामगार को साप्ताहिक अवकाश मिलता है, तो वह अपनी सुबह चर्च की प्रार्थनाओं के लिए और शाम को व्यक्तिगत व सामाजिक बातचीत के लिए बिता देती है. जो किसी के आध्यात्मिक और व्यक्तिगत या सामाजिक जीवन के लिए आवश्यक है। वे यूएई में इस तरह का विशेषाधिकार पाकर धन्य हैं।”

बता दे कि इथियोपियन ऑर्थोडॉक्स तेवाहिडो चर्च का यूएई में अपना भवन नहीं है, लेकिन यह अजमान को छोड़कर सभी अमीरात में अन्य चर्चों में प्रार्थना करते हैं. फादर ने कहा कि आने वाले दिनों में हमारा पहला चर्च भवन अबू धाबी में बनेगा।” उनका कहना है कि यह समुदाय का सपना है कि सभी अमीरात में चर्च हों।

Leave a Comment