दुबई एयरपोर्ट पर बिना अब पासपोर्ट दिखाए मिनटों में मिलेगा Immigration !

दुनिया के सबसे व्यस्त दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सभी अंतरराष्ट्रीय यात्री जल्द ही अपना पासपोर्ट दिखाए बिना मिनटों में अपना immigration ले सकेंगे ! क्यूंकि साल 2023 से सभी विदेशी यात्रियों के लिए टचलेस स्मार्ट यात्रा सिस्टम का विस्तार किया जाएगा. कैसे होगा immigration का पूरा प्रोसेस।।।।।।।।।। दुबई एयरपोर्ट पर यात्रियों का बोर्डिंग प्रोसेस कैसे होगा !

Untitled

बता दे कि अब दुबई एयरपोर्ट पर यात्रियों पूरे चेहरे को scan करके स्मार्ट चेक-इन और बोर्डिंग के प्रोसेस पूरे किये जाएंगे ! इमिग्रेशन दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट टर्मिनल 3 के माध्यम से अमीरात एयरलाइन में उड़ान भरने वाले विदेशी यात्रियों के लिए बायोमेट्रिक डेटा का उपयोग करेगा, जिसमें स्मार्ट चेक-इन और बोर्डिंग प्रक्रिया होगी। और ये पूरा प्रोसेस आज से 2 महीने बाद यानी कि अगले साल 2023 से शुरू होगी।

ID सभी विदेशी यात्रियों को उपलब्ध कराई जाएगी, जो पहले केवल संयुक्त अरब अमीरात के निवासी थे और जीसीसी नागरिकों को ये लाभ मिलेगा. जिसके लिए यात्रियों को पूरे एयरपोर्ट पर कई स्थानों पर चेक इन करना पड़ता है। बता दे कि आपके पहचान दस्तावेजों को लेने की अब आवश्यकता नहीं होगी।

उम्मीद है ये नया प्रोसेस दुबई पहुंचने वालों के लिए उनके अंतिम गंतव्य के रूप में एक तेज़ और कुशल हवाई अड्डे का एक्सपीरियंस लाएगी। यात्रियों को कनेक्टिंग फ़्लाइट में स्थानांतरित किया जाएगा। एक बात ध्यान ज़रूर दीजिये गए कि यह सुविधा केवल दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के टर्मिनल 3 पर उपलब्ध होगा। अमीरात सेल्फ-चेक-इन कियोस्क पर या व्यक्तिगत रूप से चेक-इन डेस्क पर प्रक्रिया को पूरा करने के अलावा अमीरात ऐप के माध्यम से भी किया जा सकता है.

आईये अब जानते हैं AI -पावर्ड सिस्टम क्या होता है ! तो AI -पावर्ड सिस्टम को यात्रियों की चेहरे की विशेषताओं को पहचानने और उनकी identity प्रूफ के लिए उनके पासपोर्ट से जोड़ने के लिए जाना जाता है, जिससे उन्हें चेक-इन, बोर्डिंग और इमिग्रेशन में मदद मिलती है। वैसे दुबई एयरपोर्ट ने पिछले साल फरवरी में इस स्मार्ट ट्रैवल सिस्टम की शुरुआत की थी, जिस समय अधिकारियों ने समझाया कि प्रक्रिया में चेहरे और आँखों के आईरिस पहचान का उपयोग शामिल है। स्मार्ट ट्रैवल सिस्टम का उपयोग करके चेहरे की पहचान के द्वारा आप्रवासन प्रक्रिया को पूरा किया जा सकता है.

free entry

पहला चरण : Users को अपना पासपोर्ट चेहरे की पहचान प्रणाली में registered कराना होगा।
दूसरा चरण, आप्रवासन : यात्री एक ‘स्मार्ट सुरंग’ से गुजरते हैं जो उन्हें प्रमाणित करने के लिए चेहरे की पहचान का उपयोग करती है।
तीसरा चरण, लाउंज सुविधाएं : बायोमेट्रिक डेटा वाले यात्रियों को दस्तावेजों को ले जाने की आवश्यकता के बिना लाउंज सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं.
चौथा चरण, Final बोर्डिंग : यात्री अपने यात्रा दस्तावेज दिखाए बिना बोर्डिंग गेट पर चेहरे की पहचान प्रणाली का उपयोग कर सकते हैं।

Leave a Comment