दुबई में भारतीय प्रवासी भी ले सकेंगे अपने भारत राज्य अरुणाचल प्रदेश के संतरे का स्वाद, 30 दिसंबर तक पहुंचेगी…

अब दुबई में भारतीय प्रवासी भी ले सकेंगे अपने भारत राज्य अरुणाचल प्रदेश के संतरे का स्वाद, 30 दिसंबर तक पहुंचेगी पहली ट्रक !

जी हाँ डम्बुक से 6MT संतरे की पहली खेप, जिसे ‘अरुणाचल प्रदेश का ऑरेंज बाउल’ भी कहा जाता है, उसको रोइंग से हरी झंडी दिखाई गई है, जिस खेप के 30 दिसंबर तक दुबई पहुंचने की संभावना है !

अस्सलाम अलैकुम।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। मैं अंदलीब अख्तर और आप देख रहे हैं UAE Khabar !

कई मशहूर फलों में भारत के संतरे भी फलों को पसंद करने वाले लोगों के बीच खासे पॉपुलर हैं। इसलिए भारत से संतरे दुबई भेजने के इस कदम को एक उल्लेखनीय उपलब्धि बताते हुए, अरुणाचल के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने कहा कि राज्य प्रशासन अरुणाचल प्रदेश को ‘भारत के फलों के कटोरे’ में बदलने के लिए अटूट प्रयास कर रहा है। अरुणाचल प्रदेश कृषि विपणन बोर्ड (APAMB) द्वारा कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (APEDA) और लुलु ग्रुप इंटरनेशनल के सहयोग से की गई एक पहल, इस प्रयास को मिशन ऑर्गेनिक वैल्यू चेन डेवलपमेंट फॉर नॉर्थ ईस्ट रीजन (MOVCD-) द्वारा समर्थित किया गया है।

ट्विटर पर अरुणाचल के सीएम ने लिखा, “दंबुक से हमारे संतरे दुबई को निर्यात किए जाने पर मुझे कितना खुशी और गर्व है। सरकारी समर्थन और हमारे किसानों के निरंतर प्रयास के साथ, अरुणाचल प्रदेश निश्चित रूप से भारत का फलों का कटोरा बनने की राह पर है। वास्तव में एक उल्लेखनीय उपलब्धि!

आईये आपको बताते हैं पांच स्पेशल संतरों के बारे में। मगर उससे पहले आप हमारे पेज को फॉलो कर लीजिये ताकि आप तक ज़रूरी जानकारियां पहुँचती रहे या फिर आप हमे Youtube पर देख रहे हैं तो हमारे चैनल को subscribe कर लें जिससे आने वाले हर Videos की Notifications आपको मिलते रहे !

महाराष्ट्र के दो, कर्नाटक, मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश के एक-एक संतरों को उनकी विशेषता के कारण जीआई टैग दिया गया है। जिन ऑरेंज को जीआई टैग दिए गए हैं, इनमें हर एक की अपनी खासियत है। संतरे की खेती (orange farming) के बाद ताजे फलों का उपयोग आम तौर पर जूस के लिए किया जाता है। इसके अलावा संतरे का कई और तरीकों से भी इस्तेमाल किया जाता है।

संतरे का साइट्रस (Citrus) अच्छे स्वाद के अलावा सेहत के लिए भी अच्छा होता है। इसका सेवन हृदय रोग को रोकने में मददगार होता है, क्योंकि संतरे पोटेशियम से भरपूर होते हैं। संतरे के फाइटोकेमिकल्स (phytochemicals) कैंसर से बचाव कर सकते हैं।

भारत के बड़े संतरा उत्पादक राज्यों में मध्य प्रदेश, पंजाब, महाराष्ट्र, राजस्थान और हरियाणा शामिल हैं। बता दें कि संतरे की खेती जैसे उद्यम को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार बागवानी के एकीकृत विकास के लिए मिशन (MIDH) चला रही है। अप्रैल 2015 से कार्यान्वित इस मिशन के तहत फल, सब्जियों, के अलावा मशरूम, मसाले, फूल, सुगंधित पौधे, नारियल, काजू और कोको जैसे उत्पादों की खेती को शामिल किया गया है।

MIDH के अंतर्गत सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश आते हैं। कर्नाटक का संतरा, एसिड और चीनी का उत्कृष्ट मिश्रण संतरों के विशेष गुणों के आधार पर सरकार की ओर से जीआई टैग दिए जाते हैं। कर्नाटक के कूर्ग ऑरेंज (Coorg Orange) को जीआई टैग दिया गया है।

खबर पसंद आयी हो तो एक Like ज़रूर करे और वीडियो को शेयर करना न भूले !

हम लाते रहेंगे ऐसी ही तमाम जानकारियां ।।।।।।।।।।।।।।।।।।। तब तक देखते रहिये UAE Khabar !

Leave a Comment