Breaking: UAE सरकार ने भारत को दी चेतावनी, एक साथ 66 बच्चों की मौत !

कुछ दिनों से एक मामला बड़े ही चर्चे में बना हुआ है जहाँ गाम्बिया में 66 बच्चों की जान चली गयी और ये भारत में बने सर्दी-खांसी के 4 कफ सिरप पीने के कारण हुई है. इस बात की जानकारी WHO यानी World Health Organisation ने खुद दी है. जी हाँ WHO ने गांबिया में हुई बच्चों की मौत के लिए भारतीय कफ सीरप को ही जिम्मेदार ठहराया है और साथ ही अलर्ट भी जारी किया था।

Capture

इस बीच केंद्र ने पूरे मामले की जांच के लिए चार सदस्यीय समिति का गठन किया है। केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन ने तुरंत मामले को हरियाणा नियामक प्राधिकरण के समक्ष उठाया और इसकी विस्तृत जांच शुरू कर दी. रिपोर्ट्स के मुताबिक, दवा के जहरीले प्रभाव की वजह से पेट में दर्द, उल्टी आना, डायरिया, मूत्र में रुकावट, सिरदर्द, दिमाग पर प्रभाव और किडनी पर असर होने लगता है। WHO का कहना है कि जब तक संबंधित देश की अथॉरिटी पूरी तरह से जांच ना कर ले इन दवाओं को इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। वरना इससे दूसरी जानलेवा बीमारियां हो सकती हैं.

वहीँ अब UAE के अबुधाबी सरकार ने भी भारत की दवाई कफ सिरप को लेकर कड़ी चेतावनी दे दी है. जी हाँ अमीरात के स्वास्थ्य विभाग (डीओएच) ने advisory जारी करते हुए कहा है कि बच्चों के लिए खांसी और सर्दी की चार दवाएं जिससे गाम्बिया में मौते हुई है उन दवाईयों को अबुधाबी में कहीं भी नहीं बेचा जाए. अगर भारत के ये syrup अबुधाबी में किसी भी मेडिकल दूकान में उपलब्ध हैं तो वे तुरंत इन्हे सील कर दें.

syrup

विभाग ने उन लोगों से आग्रह किया जिन्होंने इस दवाईयों के products को खरीदा है वे उनका इस्तेमाल नहीं करें और अगर इस्तेमाल कर लिया और जैसे ही कुछ बुरे symptoms दिखे तो फ़ौरन डॉक्टर की मदद लें. वहीँ अमीरात के निवासियों के डर को हटाने के लिए WHO के अनुसार, एक सोशल मीडिया पोस्ट में, DOH अबू धाबी ने इस बात का भी खुलासा कर दिया है कि Maiden Pharmaceuticals Limited की चार दवाईयां को UAE के किसी भी Health Sector में उपलब्ध नहीं है.

भारत निर्मित कफ सिरप से संभावित रूप से गांबिया में कुछ बच्चों की मौत के मामले में विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि भारत सरकार इस मामले में वहां की सरकार के संपर्क में है और इससे जुड़े घटनाक्रम पर करीब से नजर रखे हुए है.

Leave a Comment