दुबई एयरलाइन ने लगाया बड़ा नियम, 15 से ज़्यादा ऐसे सामानों पर लगी रोक !

दुबई एयरलाइन ने अपने यात्रियों पर एक बड़ा नियम लागू कर दिया है. जहाँ उन्हें 15 से ज़्यादा सामानों के फ्लाइट में ले जाने पर रोक लगा दी है. यानी कि सामानों को Limited कर दिया गया है. साथ ही जो 15 सामान जायेंगे उनके Packaging को लेकर भी नियम जारी किये हैं !

क्या है नया Rule ! इसे जानने के लिए वीडियो को अंत तक देखियेगा !

अस्सलाम अलैकुम।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। मैं अंदलीब अख्तर और आप देख रहे हैं UAE Khabar !

दरअसल अमीरात एयरलाइन ने यात्रियों से 15 से ज्यादा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस jaise पावर बैंक, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण नहीं ले जाने का रूल लगाया है और जो सामान जाएंगे उन्हें ठीक से पैकेज करने के लिए कहा है. एयरलाइन ने सलाह देते हुए कहा कि प्रत्येक उपकरण को अलग से पैक किया जाना चाहिए। यात्रियों को चेतावनी दीकि यदि वे लिमिटेड से अधिक समाना जाता है या जो ठीक से पैक नहीं किए गए हैं, तो अधिकारी उपकरणों को जब्त कर सकते हैं। इसलिए सावधान बरते !

“सुरक्षा कारणों से, अधिकारी उन वस्तुओं को जब्त कर सकते हैं जो गलत तरह से पैक की गई हैं, या यदि ले जाने वाली वस्तुओं की संख्या प्रति यात्री 15 PED की limitation से अधिक है।” छुट्टियों का मौसम शुरू होने वाला है और ऐसे में हवाई यात्रियों की संख्या तेज़ी से बढ़ जायेगी ! अमीरात ने दिसंबर के लिए दुबई के माध्यम से इनबाउंड और आउटबाउंड यात्रा दोनों के लिए एक व्यस्त यात्रा अवधि की घोषणा की है, यात्रियों को अपनी उड़ान से तीन घंटे पहले हवाई अड्डे पर पहुंचने की सलाह दी है।

इसके अलावा, सुरक्षा कारणों से, एमिरेट्स अपनी उड़ानों में होवरबोर्ड्स, मिनी-सेगवेज़ और स्मार्ट या सेल्फ़-बैलेंसिंग व्हील्स जैसे व्यक्तिगत मोटरचालित वाहनों को स्वीकार नहीं करता है। यह बैटरी के साथ या बिना – चेक-इन या कैरी-ऑन बैगेज के रूप में ऐसे सभी उपकरणों पर भी प्रतिबंध लगाता है।

आगे बढ़ने से पहले आप हमारे पेज को फॉलो कर लीजिये ताकि आप तक ज़रूरी जानकारियां पहुँचती रहे या फिर आप हमे Youtube पर देख रहे हैं तो हमारे चैनल को subscribe कर लें जिससे आने वाले हर Videos की Notifications आपको मिलते रहे !

आईये अब जानते हैं cabin Baggage के क्या रूल हैं:

तो बता दे कि यात्रियों को केबिन बैगेज के रूप में ड्रोन ले जाने की भी अनुमति नहीं है, लेकिन उन्हें चेक-इन बैगेज के रूप में स्वीकार किया जा सकता है। इसके अलावा, यात्रियों को या तो ड्रोन के अंदर लिथियम बैटरी को सुरक्षित रखने या बैटरी को हटाने और केबिन बैगेज में ले जाने के लिए कहा जाएगा।

वहीँ संयुक्त अरब अमीरात में सभी ट्रैवल एजेंटों को प्रसारित एक नोटिस में, एयर इंडिया एक्सप्रेस ने घोषणा की है कि संयुक्त अरब अमीरात से आने और जाने वाले यात्रियों को यह सुनिश्चित करना होगा कि उनके पासपोर्ट में उनका प्राथमिक यानी पहला नाम और द्वितीयक यानी की उनका sir name नाम है या नहीं !

किसी भी पासपोर्ट धारक को एक ही नाम (शब्द) के साथ उपनाम या दिए गए नाम को संयुक्त अरब अमीरात के आप्रवासन द्वारा स्वीकार नहीं किया जाएगा और यात्री को INAD माना जाएगा”. आप सोच रहे होंगे ये INAD क्या होता है ! तो आपको बता दे कि INAD शब्द जो अस्वीकार्य यात्री के लिए है। यानी ऐसे यात्रियों को फ्लाइट में बैठने की अनुमति नहीं होगी !

वहीँ अभी अरब और भारत देश के बीच की हवाई यात्रा थोड़ी सस्ती भी हुई है. एयरलाइन भी समय-समय पर यात्रियों के लिए नई नई स्कीम निकालती है और उन्हें कम किराए में यात्रा की सुविधा देती है। Air India Express ने भी भारत और अरब के बीच उड़ानों की घोषणा की है। शारजाह और भारत के शहर त्रिची के बीच यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए यह सुविधा उपलब्ध है।

खबर पसंद आयी हो तो एक Like ज़रूर करे और वीडियो को शेयर करना न भूले ताकि अन्य भारतीयों को भी अपने भारतीय होने पर गर्व हो !

हम लाते रहेंगे ऐसी ही तमाम जानकारियां ।।।।।।।।।।।।।।।।।।। तब तक देखते रहिये UAE Khabar !

Leave a Comment