दुबई में रहने वाले भारतीय ध्यान दें ! बालकनी में कपड़े सुखाए तो लगेगा Fine

क्या आपने कभी सोचा है कि बालकनी में कपड़े सुखाने पर जुर्माना भी लग सकता है. बेशक भारत में ये असंभव लगे, लेकिन दुबई में ऐसा है. दरअसल दुबई म्यूनिसिपैलिटी ने शहर को साफ-सुथरा रखने के लिए कई कानून बनाए हैं. इसकी कड़ी में ये फैसला लिया गया है कि अगर कोई अपनी बालकनी में कपड़े सुखाएगा तो उस पर फाइन लगाया जाएगा. इसके साथ ही कुछ और कड़े कानून बनाए गए हैं.

दुबई में कुछ नए नियम बनाए गए हैं जिनके उल्लंघन पर भारी जुर्माना देना पड़ सकता है। ये नियम खासतौर पर दुबई में रहने वाले भारतीयों के लिए जानना बेहद जरूरी है क्योंकि भारत में ये चीजें बेहद आम हैं। दुबई में अब बालकनी में कपड़े सुखाते हुए दीखता है तो उस पर फाइन लगेगा। जबकि भारत में ज्यादातर लोग अपने कपड़े बालकनी में ही सुखाते हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, दुबई नगरपालिका के इस फैसले के बाद अगर कोई बालकनी में कपड़े सुखाते मिलता है तो उससे 500 से 1500 दिरहम यानी 10 से 30 हजार रुपये तक का जुर्माना वसूला जाएगा. इस संबंध में दुबई नगरपालिका ने एक ट्वीट भी किया है और लोगों से नियमों का पालन करने की अपील की है.

दुबई नगरपालिका ने ट्वीट में लोगों से कहा है कि वे अपनी बालकनी का गलत इस्तेमाल न करें और ऐसा कुछ न करें जिससे उनकी बालकनी खराब दिखे. इस ट्वीट में अन्य नियमों के साथ ही जुर्माने के बारे में भी बताया गया है. दुबई नगरपालिका ने ट्वीट करके इस नियम के साथ ही कुछ अन्य चीजों के बारे में भी बताया है, जिनकी मनाही होगी और उल्लंघन करने पर अब जुर्माना देना होगा.

बालकनी या खिड़की पर कपड़े सुखाने पर.
बालकनी से सिगरेट की राख अगर नीचे गिरती है तो जुर्माना लगेगा.
बालकनी से कूड़ा फेंकने पर भी लगाई गई है रोक.
बालकनी धोते समय अगर पानी नीचे गिरता है तो देना होगा फाइन.
एसी से पानी नीचे टपकने पर भी जुर्माना लिया जाएगा.
बालकनी से चिड़ियों को दाना खिलाने की भी मनाही होगी.
बालकनी में कोई भी एंटीना या डिश लगाने पर रोक लगाई गई है.

दुबई नगरपालिका ने ये कदम शहर को साफ-सुथरा रखने के उद्देश्य से उठाए हैं। नगरपालिका ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि अपनी बालकनी का ‘गलत इस्तेमाल’ न करें। लोगों से कहा गया है कि वे ऐसा कुछ न करें जिससे उनकी बालकनी ‘बुरी’ दिखे। पर्यावरण जरूरतों और मानकों को लेकर जागरुकता बढ़ाने के लिए दुबई नगरपालिका यूएई के सभी निवासियों से शहर की सुंदरता और सभ्य स्वरूप को बिगाड़ने से बचने की अपील करती है।

ये नियम सिर्फ कागजों पर नहीं बनाए गए हैं बल्कि इन्हें तोड़ने पर भारी जुर्माना भी देना पड़ सकता है। नियमों को तोड़ने पर 500 से 1500 दिरहम यानी 10 हजार से 30 हजार रुपए तक का जुर्माना देना पड़ेगा। यूएई की कमाई का प्रमुख क्षेत्र पर्यटन है और पर्यटकों को लुभाने के लिए सरकार तरह-तरह के उपाय करती रहती है। यही कारण है कि यूएई में साफ-सफाई को लेकर सख्त नियम लागू हैं ताकि दूसरे देशों से आने वाले पर्यटकों के सामने देश की एक स्वच्छ छवि बन सके।

Leave a Comment