हैलोवीन के बाद अब सऊदी अरब ने किया ऐसा काम, सभी ने कहा- ‘कयामत दूर नहीं’ !

सऊदी अरब कहने को मुस्लिम देश है और इस्लाम का सेंटर भी कहा जाता है, लेकिन पिछले कुछ समय से यहां लगातार बदलाव हो रहे हैं और यह देश कट्टरपंथी सोच को छोड़कर कई ऐसे फैसले ले चुका है, जो कट्टरपंथियों को खूब चुभ रहे हैं. ऐसा क्या हुआ आपको बताएँगे.

पिछले 1 साल में यहां महिलाओं को जिस तरह के अधिकार दिए गए हैं वैसे बहुत कम मुस्लिम देशों में हैं. इसी क्रम में अब यहां की सरकार ने हाल ही में प्रोफेश्नल रेस्लिंग कंपनी WWE को सऊदी अरब में इवेंट आयोजित करने की अनुमति दी. इसमें महिला रेस्लर्स ने भी हिस्सा लिया जिसके बाद से कट्टरपंथी भड़के हुए हैं. हालांकि कुछ लोग इस फैसले की तारीफ भी कर रहे हैं.

wwe

इस इवेंट के बाद से सोशल मीडिया पर कई कट्टरपंथियों ने अपनी नाराजगी जताई. इवेंट से जुड़े एक वीडियो के नीचे कुछ यूजर्स ने, लिखा ‘जहन्नम के लिए तैयार’. वहीं एक यूजर ने लिखा ‘जहन्नम के रास्ते पर बढ़ता नया सऊदी अरब’. हालांकि कुछ लोग इस बदलाव का पक्ष लेते हुए भी नजर आए. एक यूजर ने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘सुधारों को लेकर दुनियाभर के लिए वास्तविक रोल मॉडल’.

डब्ल्यू डब्ल्यू इवेंट के आयोजन से कुछ दिन पहले ही यहां हैलोवीन पार्टी का आयोजन किया गया था. इस पार्टी में महिलाओं के शामिल होने की भी अनुमति थी. इसके बाद वहां काफी हंगामा हुआ. कट्टरपंथियों ने इसे इस्लाम के खिलाफ बताया था. इसे लेकर इस्लाम सरकार की काफी आलोचना हुई थी.

बता दें कि हैलोवीन पार्टी के आयोजन के बाद कई यूजर ने यहां तक कह दिया था कि अब कयामत दूर नहीं है. एक कट्टरपंथी ने लिखा, ‘मुस्लिमों को हैलोवीन मनाना मना है. अल्लाह सही रास्ता दिखाए और हमें क्षमा करे.’ दूसरे यूजर ने लिखा, ‘सऊदी अरब में हैलोवीन मनाया जा रहा है जो दिखाता है कि कयामत दूर नहीं है.’

इस साल सऊदी अरब में हैलोवीन समारोह, हैलोवीन के लिए वेशभूषा पहने लोगों की तस्वीरें और वीडियो जमकर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं और इस हेलोवीन पार्टी से सऊदी अरब में एक बार फिर से विवाद को हवा दे दी है. Users कहने लगे हैं कि गैर-इस्लामी आयोजनों में वेस्टर्न में शामिल होने के लिए हलाल या हराम क्या है।

saudi halloween

कुछ ने कहा है कि सऊदी अरब नए नए रुझानों का पालन कर रहा है और हैलोवीन या किसी अन्य उत्सव का आनंद लेना हानिकारक है। लोगों का मत था कि जिस देश में ईद-ए-मिलाद उन नबी (पैगंबर मुहम्मद (PBUH) का जन्मदिन) मानाने की अनुमति नहीं है, वह सड़कों पर हैलोवीन मनाता है, निश्चित रूप से एक सुधार की आवश्यकता है। दुनिया भर के मुसलमानों द्वारा इसी तरह की शिकायतें जारी की जा रही है.

Leave a Comment