सऊदी अरब में Guards के हाथों पिटाई महिलाएं, पूरा वीडियो हुआ वायरल, हुआ सच्चा खुलासा !

सऊदी अरब में Guards के हाथों पिटाई महिलाएं, पूरा वीडियो हुआ वायरल, हुआ सच्चा खुलासा !

बीते कुछ दिनों पहले सऊदी अरब में एक वीडियो तेज़ी से वायरल हुआ था, जिसमे महिलाओं को पीटते हुए देखा जा सकता है ! जी हाँ एक अनाथालय की महिलाओं की पिटाई की जा रही थी जो सिक्योरिटी आफिसर्स ने की है। वीडियो में साफ दिख रहा है कि अनाथालय में रहने वाली महिलाओं को कितनी बेरहमी से सेना के जवान पीट रहे हैं। मगर बाद में एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है ! जिसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे !

अस्सलाम अलैकुम।।।।।।।।।।।।। मैं अंदलीब अख्तर और आप देख रहे हैं Daily Saudi News !

सऊदी अरब अपने सख्‍त कानूनों और मानवाधिकारों के रेकॉर्ड को लेकर पूरी दुनिया में निशाने पर रहता है। अब सऊदी अरब का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है जिसमें एक महिला को बुरी तरह से पीटा जा रहा है। महिला के बाल पकड़कर उसे घसीटा गया और लातों से मारा गया। इस वीडियो के लीक होने के बाद पूरी दुनिया जमकर गुस्‍सा देखा जा रहा है और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के निशाने पर एक बार फिर से प्रिंस मोहम्‍मद बिन सलमान आ गए हैं। उनका कहना है कि प्रिंस के राज में लगातार सऊदी अरब में उत्‍पीड़न की घटनाएं बढ़ गई हैं।

वीडियो एक अनाथालय का है। इस वीडियो के वायरल होने के बाद सऊदी सरकार ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। इस वीडियो को पहले एक महिला ने ट्विटर पर पोस्‍ट किया था जिसने इस हमले को रिकॉर्ड किया था। इस वीडियो में नजर आ रहा है कि वर्दी पहने दर्जनों पुरुष पुलिसकर्मी एक महिला का पीछा कर रहे हैं। इसके बाद वे उसे पकड़ लेते हैं और लाठी तथा बेल्‍ट से महिला की जमकर पिटाई करते हैं। एक अन्‍य पुलिसकर्मी बेल्‍ट से महिला पर वार करते हुए दिख रहा है।

आगे बढ़ने से पहले आप हमारे पेज को फॉलो कर लीजिये ताकि आप तक ज़रूरी जानकारियां पहुँचती रहे !

बताया जा रहा है कि यह अनाथालय खमिस मुशैत इलाके में स्थित है जो असीर प्रांत का हिस्‍सा है। यह राजधानी रियाद से 884 किमी दूर है। इस वीडियो के सामने आने के बाद प्रांत के गवर्नर तुर्की बिन तलाल ने आदेश दिया है कि एक कमिटी बनाई जाए और ‘सभी पक्षों’ की जांच की जाए। यह वीडियो सऊदी अरब में खमीस मुसैत अनाथालय के नाम से सोशल मीडिया में ट्रेंड कर रहा था। इस बीच सऊदी अरब के मानवाधिकार संगठनों ने वीडियो आने के बाद पुलिस की क्रूरता की कड़ी निंदा की है। घटना 31 अगस्त की बताई जा रही है। वीडियो पोस्ट करने वाली एक लड़की का कहना है कि ऑर्फनेज की लड़कियां करप्शन और इंजस्टिस के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहीं थी। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद मामला सामने आया।

खबर पसंद आयी हो तो एक Like ज़रूर करे और वीडियो को शेयर करना न भूले !

हम लाते रहेंगे ऐसी ही तमाम जानकारियां ।।।।।।।।।।।।।।।।।।। तब तक देखते रहिये Daily Saudi News !

Leave a Comment