सऊदी अरब में आज इस्लामिक New Year का दिखेगा चाँद ! कल 30 जुलाई को मनाया जाएगा नया साल

गुरुवार को सऊदी अरब में मुहर्रम का चांद कहीं नहीं दिखा. यानी कि शुक्रवार 29 जुलाई को 30 ज़ुल हिज्जा और 1 मुहर्रम 1444 एच शनिवार 30 जुलाई को इस्लामिक नया साल होगा। शाही महल ने घोषणा की है कि सुप्रीम कोर्ट ने खुलासा किया है कि गुरुवार को राज्य में मुहर्रम का चाँद दिखाई नहीं दे रहा था। इसलिए शुक्रवार 29 जुलाई ज़ुल हिज्जा की 30वीं तारीख होगी और नया इस्लामी वर्ष 1444 एएच शनिवार 30 जुलाई 2022 से शुरू होगा।

islamic

जानिए इस्लामिक नए साल को और किस नाम से जाना जाता है

घोषणा के अंत में, सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि “हम अल्लाह सर्वशक्तिमान से दो पवित्र मस्जिदों के कस्टोडियन किंग सलमान बिन अब्दुलअज़ीज़ और क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान के शासनकाल के दौरान राज्य को और अधिक सफलता देने की दुआ करते हैं. बता दे कि इस्लामी नया साल जिसे अल-हिजरा या अरबी न्यू ईयर के नाम से भी जाना जाता है। यह एक नए इस्लाम धर्म के कैलेंडर वर्ष की शुरूआत को चिह्नित करता है। Islamic New Year मुहर्रम के पहले दिन से शुरू होता है। माह मुहर्रम इस्लामी कैलेंडर का पहला महिना है.

islamic

शांति और दुआओं के साथ इस्लामिक न्यू साल का स्वागत

इस्लामी नए साल की तारीख हर साल बदलती रहती है क्योंकि इस्लामी कैलेंडर सौर कैलेंडर की तुलना में 11 दिन कम है. मुहर्रम के पहले दिन Maal Hijrah या इस्लामी नव वर्ष मनाया जाता है। यह एक नए साल के जश्न की तुलना में एक सांस्कृतिक कार्यक्रम है। मुस्लिम धर्म को मानने वाले लोग शांति और दुआओं के साथ इस्लामिक न्यू साल का स्वागत करते हैं.

Leave a Comment