Saudi Arabia में बनेगा Burj Khalifa से भी दोगुनी ऊंचाई का Mega Tower !

Saudi Arabia में बनेगा Burj Khalifa से भी दोगुनी ऊंचाई का Mega Tower !

अस्सलाम अलैकुम।।।।।।।।।।।।।।।।।।। मैं अंदलीब अख्तर

दुनिया की सबसे ऊंची इमारत दुबई की बुर्ज खलीफा को पीछे छोड़ने की तैयारी में सऊदी अरब जुट गया है. सऊदी अरबिया पब्लिक इन्वेस्टमेंट फंड एक मेगा टावर बनाने की योजना बना रहा है जो कि बुर्ज खलीफा से दोगुनी ऊंचाई का होगा. बताया जा रहा है कि यह मेगा टावर 2 किलोमीटर ऊंचा होगा. बता दें कि बुर्ज खलीफा की ऊंचाई 828 मीटर है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक मेगा टावर को बनाने के लिए एक डिजाइन प्रतियोगिता चल रही है जिसमें हिस्सा लेने के लिए भारी भरकम फीस तय की गई है. बताया जा रहा है कि दुनिया की कुछ दिग्गज आर्किटेक्ट कंपनियां भी शामिल हैं जिन्हें दुनियाभर में कई मेगाटॉवर को बनाने का अनुभव है.

यह परियोजना स्थल किंग खालिद इंटरनैशनल एयरपोर्ट के पश्चिम में स्थित है. एयरपोर्ट के विस्तार के प्लान का ऐलान हाल ही में किया गया था. इसे किंग सलमान इंटरनैशनल एयरपोर्ट के नाम से जाना जाएगा और यह साल 2030 में बनकर तैयार होगा. यात्रियों की संख्या के लिहाज से दुनिया में सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा

कहां बनेगा यह मेगा टावर? मगर उससे पहले आप ससे पहले आप हमारे पेज को फॉलो कर लीजिये ताकि आप तक ज़रूरी जानकारियां पहुँचती रहे !

बता दे की राजधानी रियाद के उत्तरी इलाके में 18 किमी चौड़े क्षेत्र में चल रहे डेवलपमेंट प्रोजेक्ट में यह मेगा टावर बनाया जाएगा. इससे बनाने के लिए एक डिजाइन प्रतियोगिता चल रही है जिसमें हिस्सा लेने के लिए भारी भरकम फीस लगभग 1 मिलियन डॉलर तय की गई है यानी करीब 5 अरब डॉलर का खर्च !

वहीँ सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की महत्वाकांक्षी योजना में से एक नियोम भी है ! जिसके लिए सऊदी अरब वरिष्ठ अधिकारियों (senior executives ) को औसतन 11 लाख डॉलर ( 9 करोड़ 5 लाख भारतीय रुपया से ज्यादा ) का भुगतान करने जा रहा है यानी कर्मचारी को हर महीने 75 लाख से ज्यादा रुपये वेतन के रूप में मिलेंगे. यह जानकारी नियोम के आंतरिक दस्तावेज से पता चली है.

नियोम की जितना बेसिक सैलरी पैकेज (टैक्स फ्री ) है, अमेरिकी कंपनियों के कर्मचारियों को बोनस के बाद उतनी रकम मिलती है. जबकि नियोम भी अपने कर्मचारियों को सभी तरह का वेतन भत्ता और बोनस देता है. इसे देखा जाए तो नियोम कंपनी की सैलरी बहुत ज्यादा है. आमतौर पर जब भी कोई कंपनी अपने कर्मचारी को सैलरी पैकेज ऑफर करती है, तो वह रकम सीटीसी (कॉस्ट टू कंपनी ) के तौर पर होती है. सीटीसी में कर्मचारी की एक साल की पूरी सैलरी शामिल होती है.

इसमें कभी भी कर्मचारी को पूरी राशि नहीं मिलती है. देश में निर्धारित आयकर काट कर कर्मचारी को वेतन दिया जाता है. लेकिन नियोम कंपनी के कर्मचारियों को कोई टैक्स नहीं देना पड़ेगा. यानी कर्मचारी अपनी पूरी तनख्वाह घर ले जा सकते हैं. यह बड़ा वेतन पैकेज यह दिखाता है कि सऊदी अरब मोहम्मद बिन सलमान के नेतृत्व में दुनिया भर की प्रतिभाओं को लुभाने की कोशिश कर रहा है. इस प्रोजेक्ट की शुरुआत 2017 में की गई थी.

ऐसा माना जा रहा है कि सऊदी अरब अपने विजन 2030 पर काम कर रहा है जिसके तहत देश में कई विशाल परियोजनाओं को पूरा किया जाएगा। कुछ रिपोर्ट्स में यह भी दावा किया गया है कि सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के मेगा टावर प्रोजेक्ट के जरिए दुबई को टक्कर देना चाहते हैं.

खबर पसंद आयी हो तो एक Like ज़रूर करे और वीडियो को शेयर करना न भूले !

हम लाते रहेंगे ऐसी ही तमाम जानकारियां ! तब तक देखते रहिये Daily Saudi News !

Leave a Comment