HomeSaudi Arabiaआज 26 जुलाई की अरब देशों की 10 बड़ी खबरें जानिए विस्तार...

आज 26 जुलाई की अरब देशों की 10 बड़ी खबरें जानिए विस्तार से !

1. सऊदी के भारतीय कामगार अभी तुरंत भारत भेजे पैसा, ज़बरदस्त मुनाफा… देखिये आज का ताज़ा एक्सचेंज रेट

सऊदी अरब में विभिन्न लेनदेन केंद्रों के अनुसार, आज 26 जुलाई को ताज़ा सऊदी रियाल की एक्सचेंज रेट जारी हुआ है.जिसे जानना प्रवासी और विदेशी भारतीयों या पाकिस्तानियों के लिए अनिवार्य है. पाकिस्तान, भारत को प्रेषण के लिए रियाल दर, लेनदेन केंद्र का नाम और शुल्क के साथ लेनदेन fees पर VAT जारी किया गया है.

पाकिस्तान के लिए नया एक्सचेंज रेट जारी

इंस्टेंट (बैंक अल जज़ीरा): 60 रुपये 65 पैसे, शुल्क: 10 रियाल
एसटीसी वेतन: 60 रुपये 39 पैसे, शुल्क: 17.25 रियाल
अल-राझी कस्टडी (अल-राझी बैंक): 60 रुपये 20 पैसे, शुल्क: 10 रियाल
वेस्टर्न यूनियन: 60 रुपये 57 पैसे, शुल्क: 23 रियाल
मनीग्राम: 61 रुपये 69 पैसे, शुल्क: 23 रियाल
टेलीमनी (एएनबी): 59 रुपये 70 पैसे, शुल्क: 15 रियाल

exchange rate

भारत के लिए क्या है नया एक्सचेंज रेट

इंस्टेंट (बैंक अल जज़ीरा): 20 रुपये 90 पैसे, शुल्क: 10 रियाल
एसटीसी वेतन: 20 रुपये 81 पैसे, शुल्क: 17.25 रियाल
अल-राझी कस्टडी (अल-राझी बैंक): 21 रुपये 02 पैसे, शुल्क: 20 रियाल
वेस्टर्न यूनियन (भेजना): 20 रुपये 93 पैसे, शुल्क: 17.25 रियाल
मनीग्राम: 20 रुपये 89 पैसे, शुल्क: 23 रियाल
अंजाज़ बैंक (बैंक अल-बलाद): 20 रुपये 97 पैसे, शुल्क: 15 रियाल

2. भारतीय प्रवासी सावधान ! अगर होने वाला है Visa Expire तो जल्द से जल्द लौटे सऊदी अरब वापस, वरना…

सऊदी मंत्रालय ने कहा है कि अगर कामगार के जाने के बाद वीज़ा एक्सपायर हो जाता है तो जवाज़ात में उसका स्टेटस “exited and did not return” हो जाता है. साथ ही MHRSD से उसका डाटा हमेशा के लिए डिलीट हो जाता है और उसका स्टेटस “absent from work” हो जाता है।

इसलिए कम्पनियों से अपील की गई है कि MHRSD के द्वारा ही विदेशी कामगारों का डाटा अपडेट करें। अगर ऐसा नहीं होता है तो कामगारों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

3. सऊदी के मक्का मदीना में क्रेन गिरने से 107 लोगों की मौत ! सुप्रीम कोर्ट ने दिया जाँच का कड़ा आदेश

सऊदी अरब के मक्का मदीना में साल 2015 में एक बड़ा हादसा हुआ था जहाँ क्रेन गिरने से 107 लोगों की जान चली गयी थी. वहीँ इस हादसे पर अब सऊदी कोर्ट का एक ताज़ा नया फरमान जारी हुआ है. सऊदी अरब के सुप्रीम कोर्ट के पहले सर्किट ने 2015 के क्रेन के ढहने की घटना से संबंधित सभी पिछले फैसलों को अमान्य करते हुए, एक दोबारा से परीक्षण करने का आदेश दिया है।

2015 के ही 11 सितंबर महीने में, मक्का की मुख्य मस्जिद में क्रेन गिरने से 107 लोगों की मौत हुई थी. जब ग्रैंड मस्जिद के निर्माण के लिए इस्तेमाल की जाने वाली क्रेन अचानक गिर गई, जिससे 110 लोगों की मौत हो गई और 209 घायल हो गए जबकि मस्जिद ढह गई। सुप्रीम कोर्ट ने मामले की समीक्षा के लिए नए न्यायिक सर्किट का आदेश दिया है। इस निर्णय से अपीलीय न्यायालय के प्रतिवादियों और अन्य सक्षम अधिकारियों को सूचित कर दिया गया है।

saudi crane

आदेश में एक साल पहले अपील की अदालत द्वारा जारी एक बरी को उलट देना भी शामिल था। मामले को नए न्यायिक सर्किट में भेजा जाएगा जहां नए न्यायाधीश इसकी समीक्षा करेंगे। दरअसल दुबारा परीक्षण इसलिए हो रहा क्यूंकि “सुप्रीम कोर्ट ने फैसले में कुछ महत्वपूर्ण कानूनी कमियों को नोट किया, जो आपराधिक अनुच्छेद 181 के संबंध में थे, जबकि लापरवाही के आरोपों का सामना करने वालों की पूरी तरह से जांच नहीं की गई थी. उनके अनुसार, यदि वे आपराधिक संहिता के अनुच्छेद 19 के अनुसार जिम्मेदार पाए जाते हैं, तो उन्हें जवाबदेह ठहराया जाएगा।

बता दे कि हादसे में मारे जाने वालों को किंग सलमान 10 लाख रियाल वितरित करने का आदेश दिया, जबकि घायलों के लिए 5 लाख रियाल दिए गए. हालांकि, उस समय जारी किए गए रॉयल डिक्री ने यह भी कहा कि यह मुआवजा व्यक्तिगत अधिकार के लिए अदालत के दावे को दायर करने से नहीं रोकेगा।

4. सऊदी अरब के तबुक का ऐतिहासिक किला अब बना Museum ! पर्यटक आ रहे घूमने-फिरने

सऊदी नागरिक और प्रवासी इन दिनों ताबुक के ऐतिहासिक किले में जाने के लिए बहुत उत्सुक हैं. इस्लाम के पैगंबर ने तबुक के मौके पर यहां डेरा डाला था. यह ऐतिहासिक किला अतीत में सीरिया और मदीना को जोड़ने वाले हज राजमार्ग पर एक महत्वपूर्ण पड़ाव रहा है. सीरिया से हज हाईवे पर कई किले और यात्री घर हैं। यह हाईवे जॉर्डन के सीमावर्ती इलाके से शुरू होकर मदीना तक जाता है।

ताबूक का किला 1568 में 976 एएच के अनुसार बनाया गया था। इसके बाद कई बार इसकी मरम्मत की गई। इसे 1653 में 1064 एएच के अनुसार और फिर 1843 में 1259 एएच के अनुसार संशोधित किया गया था. 1370 एएच के अनुसार, 1950 में इसका पुनर्निर्माण किया गया था। 1992 में, सऊदी संग्रहालय और पुरातत्व विभाग ने इसमें व्यापक संशोधन किए।

tabuk museum

सऊदी पर्यटन विभाग और राष्ट्रीय विरासत ने 2012 में इसे एक नया रूप दिया। अब यह ‘तबुक किला संग्रहालय’ बन गया है। इसे कई प्राचीन वस्तुओं से सजाया गया है। पर्यटक इस संग्रहालय यानी म्यूजियम देखने आते हैं। तबुक किला दो मंजिला है। एक खुला आंगन है। कई कमरे हैं। एक मस्जिद है, एक कुआं है। ऊपर की मंजिल तक जाने के लिए सीढि़यां हैं। गर्मियों में नमाज के लिए मस्जिदें और कमरे खुले हैं। तबुक किले को देखने के लिए बुर्ज (टावर) तक जाने वाली सीढ़ियाँ भी हैं। तबुक किले के पीछे दो सुल्तानी तालाब हैं.

5. सऊदी में कोरोना के अलावा अब मंकीपॉक्स का भी कहर… संक्रमण से बचाव ज़रूरी, क्या लगेगा Lockdown !

सऊदी स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि राज्य में मंकीपॉक्स के मामलों की संख्या 3 तक पहुंच गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस तथ्य की ओर ध्यान आकर्षित किया है कि राज्य में मंकीपॉक्स के तीन पुष्ट मामले यूरोपीय देशों से सऊदी अरब लौटे थे. बता दे कि पहला मामला 14 जुलाई को दर्ज किया गया था. स्वास्थ्य मंत्रालय ने आश्वासन दिया है कि मंकीपॉक्स की ताजा स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है.

इस संबंध में जब भी कुछ नया सामने आएगा, इसकी जानकारी जनता को दी जाएगी। यात्रा के दौरान आधिकारिक सूत्रों द्वारा जारी स्वास्थ्य दिशानिर्देशों का पालन करने की अपील की है. अगर किसी को मंकीपॉक्स के बारे में कोई प्रश्न है, तो वे 937 पर संपर्क कर सकते हैं और उत्तर प्राप्त कर सकते हैं। गौरतलब है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने शनिवार को मंकीपॉक्स को लेकर हाई अलर्ट जारी किया था। 74 देशों में अब तक लगभग 17,000 मंकीपॉक्स के मामले दर्ज किए जा चुके हैं।

अधिकांश मामले यूरोपीय देशों में दर्ज किए गए हैं। वहीँ कोरोना के संक्रमण केसेस भी लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि पिछले चौबीस घंटों के दौरान 13,755 से अधिक नए कोरोना परीक्षण किए गए। सोमवार को कोरोना के 462 नए मरीज रिकॉर्ड पर आने के बाद कुल मरीजों की संख्या 808053 पहुंच गई है. सऊदी में कोरोना केसेस भी बढ़ रहे हैं और अब मंकी पॉक्स के केसेस भी दर्ज हो रहे हैं. इन दोनों वायरस ने सरकार को चिंता में डाल दिया है. कर्फ्यू और lockdown जैसे हालात तो नहीं है. और हुकूमत ने भी अभी कोई ऐसा फैसला या सुचना नहीं दी है.

6. सऊदी किंगडम में आज होगी झमाझम मूसलाधार बारिश ! बाढ़ आने का भी मंडराया खतरा और गिरेंगे ओले

सऊदी अरब के मौसम विभाग ने उम्मीद जताई है कि किंगडम में आज मंगलवार से बारिश शुरू होगी और आधी रात तक जारी रहेगी. नेशनल सेंटर की ओर से जारी रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि प्रदेश के कई इलाकों में गरज के साथ बारिश होने वाली है. भारी बारिश से कुछ जगहों पर बाढ़ आ सकती है। ओलावृष्टि की भी संभावना है.

मौसम विभाग ने कहा कि शनिवार तक जज़ान के 12 कमिश्नरेट, नज़रान के 5 कमिश्नरेट, असिर के बारह इलाक़े, बहा रीजन के 6 कमिश्नरेट और मक्का रीजन के 4 कमिश्नरेट में बारिश होने की प्रबल संभावना है. ऐसी संभावना है कि ताइफ, मेसन, आजम और अल-लदियत में बारिश मक्का शहर तक पहुंच जाएगी। बहरा, अल खुर्मा, तरबा, रानिया, अल वाहियाह, अल कुनफादा, अल लैथ और जेद्दा भी बारिश से प्रभावित हो सकते हैं.

saudi flood

राष्ट्रीय मौसम विज्ञान केंद्र का कहना है कि बुधवार से शनिवार तक पूर्वी क्षेत्र के दक्षिणी हिस्सों में बारिश की संभावना है. मध्यम से भारी वर्षा संभव है। रियाद क्षेत्र के दक्षिणी हिस्सों में बारिश बुधवार शाम से शनिवार तक वाडी अल-दवासर, लेयला अल-अफलाज में फैलेगी। धूल भरी हवाएं दम्मम, अल-खोबर, अल-कातिफ और धहरान के इलाकों को प्रभावित करेंगी। राजधानी रियाद, अल-खर्ज, हौता बनी तमीम और अल-मुजामिया में भी तेज धूल भरी हवाएं चलेंगी.

7. दुबई से दिल्ली जाने वाले अब… Airindia ने किया एक बड़ा फरमान जारी !

airindia ने एक नया और बड़ा बयान देते हुए कहा कि दुबई से दिल्ली उड़ानों में अब ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को सर्विस दी जायेगी और इसकी कोशिश भी लगातार की जायेगी। बता दे कि 18 Boeing 787-8 Dreamliners और एक narrow-body Airbus के द्वारा लोगों को अधिक संख्या में यात्रा में शामिल होने का मौका मिल रहा है।

जानकारी के लिए बता दे कि पहले 14 Dreamliners को ही दुबई और दिल्ली के बीच आवागमन की अनुमति थी लेकिन अब इसकी क्षमता बढ़ा दी गई है। दरअसल बकरीद की छुट्टियों के कारण यात्रियों की संख्या बढ़ती जा रही है. जिसके बाद यह फैसला लिया गया कि अधिक संख्या में उड़ानों का संचालन किया जाए।

8. सऊदी पासपोर्ट में अगर किया बदलाव तो खैर नहीं ! लम्बे सालों तक TRAVEL BAN और…

सऊदी अरब जवाज़ात ने एक ख़ास जानकारी शेयर करते हुए कहा कि पासपोर्ट में अवैध रूप से किसी तरह का बदलाव अपराध है. जवजात ने कहा है कि पासपोर्ट पर किसी भी तरह की जानकारी को बदलना, मिटाना या किसी तरह की छेड़छाड़ करना आपके लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है. अपने पासपोर्ट की सुरक्षा अच्छी तरह करनी चाहिए। ऐसा नहीं करने पर पासपोर्ट की मिसयूज की भी संभावना बनी रहती है.

अगर कोई पासपोर्ट के साथ छेड़छाड़ करते हुए पकड़ा जाता है तो उस पर एक लाख सऊदी रियाल का जुर्माना लगाया जाता है और 5 साल तक ट्रेवल बैन की भी सजा दी जा सकती है।

saudi visa

9. UAE के निवासियों को इन 12 देशों ने Offer किया Visa-Free-Entry और Visa-On-Arrival ! देखे लिस्ट

दुनिया भर में लगभग एक दर्जन देश कुछ अत्यधिक लोकप्रिय पर्यटन स्थलों सहित संयुक्त अरब अमीरात के निवासियों को वीजा-मुक्त प्रवेश और वीजा-ऑन-अराइवल देते हैं. सात देश के निवासियों को वीज़ा-मुक्त प्रवेश देते हैं जबकि पाँच देश वीज़ा-ऑन-अराइवल की सुविधा देते हैं.

ऑनलाइन ट्रैवल एजेंसी मुसाफिर डॉट कॉम के अनुसार, जॉर्जिया, मालदीव, सेशेल्स, मॉरीशस, कजाकिस्तान, सर्बिया और जॉर्डन यूएई के निवासियों को वीजा-मुक्त प्रवेश प्रदान करते हैं, जबकि आर्मेनिया, बाकू, किर्गिस्तान, थाईलैंड और अल्बानिया यात्रियों को आगमन पर वीजा देते हैं।

जॉर्जिया यूएई के निवासियों के बीच सबसे लोकप्रिय वीजा-मुक्त देश है, जो कम उड़ान समय, हलाल भोजन की उपलब्धता और इसके खूबसूरत ग्रामीण इलाकों की वजह से मशहूर है. वीज़ा-मुक्त प्रवेश देश के दृष्टिकोण से, जॉर्जिया यूएई के निवासियों के लिए यात्रा करने के लिए सबसे लोकप्रिय और किफायती गंतव्य है।

visa for entry

10. UAE में बना एक और नया कानून, अगर बनाया हादसे का वीडियो तो सीधे होगी जेल और 50 हज़ार का जुर्माना

संयुक्त अरब अमीरात में अब एक नया नियम बन गया है जहाँ अगर कोई भी व्यक्ति किसी घटना या हादसे का वीडियो क्लिप, फोटो बनाकर शेयर करता है उसपर उल्लंघन का मामला दर्ज कर दिया जाएगा। यानी कि वीडियो क्लिप या फोटो को शेयर करने की अनुमति नहीं है. इसलिए अब ऐसा करने से सावधान रहे.

यूएई कानून के मुताबिक अगर कोई ऐसा करता है तो उसे कम से कम 6 महीने तक की जेल या Dh150,000 से लेकर Dh500,000 तक का जुर्माना लगाया जा सकता है. एक ऐसे ही मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी किया गया है. क्यूंकि उसने एक महिला के मरने का वीडियो बना लिया था और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था.

arrested

दरअसल महिला को एक व्यक्ति ने चा/कू मार दिया था और भाग गया था लेकिन बिल्डिंग के सिक्योरिटी कैमरे में यह सब रिकॉर्ड हो गया था. इसी घटना से जुड़ा एक वीडियो क्लिप वायरल करने वाले आरोपी को शारजाह पुलिस ने गि/रफ्तार कर लिया है। आगे की कार्रवाई के लिए आरोपी को लोक अभियोजन भेज दिया गया है.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular