सऊदी अरब में फंसे 15 राजस्थानी युवक, लगा रहे वतन वापसी की गुहार !

हमेशा यह देखा गया है कि लोग अच्छी नौकरी की तलाश में लोग अरब देशों का रुख करते हैं. बहुत लोग नौकरी पाने में कामयाब रहते हैं तो बहुत लोगों को धोखा मिल जाता है. पैसे ऐंठने के लिए बेचारे मज़दूरों को झूठा सपना दिखाया जाता है. ऐसे ही मजदूरी करने गए चूरू जिले के युवक सऊदी अरब में भूख प्यास एवं परेशानी का सामना कर रहे हैं.

दरअसल एक दो मज़दूर नहीं बल्कि 15 मज़दूर हैं राजस्थान के ! जो सऊदी अरब में नौकरी के नाम ठगे गए हैं ! थक हारकर मजदूरों ने केंद्र सरकार से अपने वतन वापस बुलाने की गुहार लगाई है. गौरतलब है कि चूरु जिले के करीब 15 से अधिक युवक अलग-अलग एजेंटों को रुपए देकर मजदूरी करने के लिए करीब दो महीने पहले सऊदी अरब गए थे, जहां पर एजेंटों ने उन्हें बड़ी कंपनी का झांसा देकर भेजा था. सऊदी अरब जाने के बाद युवकों को पता चला कि वह ठगी का शिकार हो गए हैं और वहां पर किसी ठेकेदार के पास उन्हें काम करना पड़ रहा है.

सऊदी अरब में फंसे युवकों का कहना है कि उन्होंने एक लाख बीस हजार रुपये एजेंट को दिए हैं करीब 15 लोग अलग-अलग एजेंट को रकम देकर सऊदी अरब गए थे. एजेंटों ने अल-सफीर कंपनी में भेजने के नाम पर इंटरव्यू भी करवाया था, लेकिन वहां जाने के बाद उन्हें ठेकेदार के पास छोड़ दिया. जहां पर ठेकेदार द्वारा उन पर विभिन्न तरह से प्रताड़ना व अत्याचार किया जा रहा है.

पीड़ित युवकों का कहना है कि वह सभी एक कमरे में बंद कर दिए जाते हैं और उनके साथ मारपीट व शोषण किया जा रहा है. करीब 2 महीने से व बंद कमरे में कैद है सुबह उनको काम पर ले जाया जाता है शाम को फिर उन्हें एक बंद कमरे में डाल दिया जाता है. इसका विरोध करने पर या बीमार हो जाने पर डॉक्टर के पास ले जाने के बजाय, वहां के ठेकेदार द्वारा उनके साथ मारपीट कर रात को कमरे से बाहर निकाल दिया जाता है. इस पर हार थक कर सभी युवक केंद्र सरकार से वतन वापसी की गुहार लगा रहे हैं.

सऊदी में फंसे पीड़ित युवकों का कहना है कि बीमार होने पर जब 1 दिन की छुट्टी रखी जाती है तो उसके बदले में उनकी 10 दिन की मजदूरी काट ली जाती है और उनके साथ मारपीट की जाती है. अत्यधिक बीमार होने के बावजूद भी उनका कोई उपचार नहीं करवाया जा रहा है. इस पर पीड़ितों ने सरकार से ही नहीं अपने परिजनों से भी जैसे तैसे फोन करके वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर के अपने वतन वापसी की गुहार लगाई हैं. इधर सऊदी में फंसे युवकों के परिजन भी राजनेताओं एवं अधिकारियों से गुहार लगा चुके हैं.

वह विभिन्न तरह के प्रयास अपने बच्चों को वतन वापसी के लिए कर रहे हैं लेकिन 2 महीने बीत जाने के बावजूद भी जब सरकार व राजनेताओं द्वारा कोई कार्यवाही नहीं होने पर उन्होंने वीडियो वायरल कर सोशल मीडिया के द्वारा वतन वापसी की गुहार लगाई है. इन में फंसे 15 युवकों में चूरू, झुंझुनू व बीकानेर जिले के युवक है.

पीड़ितों का कहना है कि नाहीं तो उन्हें समय पर खाना दिया जाता है ना ही उन्हें पगार दी जाती है इसका विरोध करने पर उन्हें प्रताड़ना और मारपीट मिलती है. इस पर विरोध करते हुए उन्होंने रोते हुए वतन वापसी की गुहार लगाई है. रतनगढ़ तहसील के गांव भोजासर निवासी लालाराम नायक,गोलसर निवासी जाकिर गोरी, टीडियासर निवासी भवानी सिंह,रतनगढ़ निवासी शाहिद गोरी, चूरू के अब्दुल अजीज व जाकिर सहित झुंझुनूं व बीकानेर जिले के कई युवक यहाँ पर फंसे हुए हैं. वतन वापसी की गुहार लगा रहे हैं.

Leave a Comment