कुवैत में तमिलनाडु के युवक की हत्या ! सदमे में आ गया पूरा परिवार

मुथुकुमारन तिरुवरूर जिले के कूथनल्लूर के पास लक्ष्मणगुडी गांव में रहते थे। उनके परिवार में पत्नी विद्या और दो बेटे हैं। ए बी फार्म स्नातक, वह एक निजी कंपनी में कार्यरत थे, लेकिन कोरोना काल में उनकी नौकरी चली गई, इसलिए उन्होंने सब्जी व्यापार सहित अपना खुद का व्यवसाय शुरू किया। मगर अब खबरें आ रही है मुथु कुमारन को किसी से मार दिया है !

दरअसल मुथु कुमारन को अपेक्षित सैलरी नहीं मिलने से मुथुकुमारन का परिवार आर्थिक तंगी में है। उन्हें अपने बच्चों की पढ़ाई का खर्चा उठाने में परेशानी हो रही है। ऐसे में हैदराबाद से एक एजेंसी के जरिए कुवैत जाने की कोशिश में जुटे मुथुकुमारन ने इस काम के लिए अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से कई लाख रुपये उधार लिए हैं. ऐसा कहा जाता है कि 3 तारीख को कुवैत गए मुथुकुमारन ने अगले तीन दिन अपने परिवार से फोन पर बात करते हुए बड़े संकट में बिताए।

उन्होंने कहा, ‘मुझे कुवैत में काम करना पसंद नहीं है… मैं अपने देश भारत वापस आ रहा हूं।’ उसके बाद, तिरुवरुर में मुथुकुमारन के परिवार को कोई फोन नहीं आया। ऐसा कहा जाता है कि कुवैत के सबा अल अहमद शहर में रहने वाले मुथुकुमारन को उस देश के एक बड़े करोड़पति के ऊंटों को झुंड में लाने के लिए मजबूर किया गया था। लेकिन उन्होंने ऊंटों को चराने से मना कर दिया है। तो करोड़पति और मुथुकुमारन के बीच तीखी नोकझोंक हुई।

करोड़पति और मुथुकुमारन के बीच तीखी नोकझोंक के बाद मुथुकुमारन ने कुवैत में भारतीय दूतावास से अरबपति के बारे में अपील करने की कोशिश की है। कुवैत के रिपोर्ट में खबर छपी थी कि जिस शख्स ने गुस्से में आकर मुथुकुमारन को लात मारी और उसके बाद मौजूद बंदूक से उसकी गोली मारकर हत्या भी कर दी.

इस बात की पुष्टि होने के बाद मुथुकुमारन की पत्नी विद्या ने इस संबंध में तिरुवरूर जिला कलेक्टर कैत्री कृष्णन के पास कानूनी कार्रवाई की मांग करते हुए एक याचिका दायर की. सुनवाई हुई है या नहीं इसकी अब तक कोई सुचना नहीं है !

Leave a Comment