श्रद्धा मर्डर केस: राजधानी दिल्ली में मचा तहलका, गर्लफ्रेंड के 35 टुकड़े… गूगल पर देखा खून साफ करने का तरीका !

आज हम आपके लिए एक ऐसी सनसनी खेज खबर लेकर आये हैं जिसे सुनकर आप भी कांप जाएंगे ! आप सोच में पड़ जाएंगे कि क्या वाकई ऐसा कोई कर सकता है !

जी हाँ भारत की राजधानी दिल्ली में श्रद्धा मर्डर केस ने पूरी दिल्ली में तहलका मचाकर रख दिया है ! जहाँ बॉयफ्रेंड ने गर्लफ्रेंड के 35 टुकड़े कर दिए ! बॉयफ्रेंड आफताब ने गर्लफ्रेंड श्रद्धा की 6 महीने पहले हत्या कर दी थी और उसके शव के आरी से 35 टुकड़े किए थे। इसके बाद आरोपी आफताब ने शव के टुकड़ों को फ्रिज में रखा और धीरे-धीरे इन टुकड़ों को अलग-अलग जगह फेंकता रहा।

case

श्रद्धा हत्याकांड के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला ने पुलिस पूछताछ में चौंकाने वाला खुलासा किया है। आफताब ने अपने लिव-इन पार्टनर श्रद्धा की हत्या के बाद खून साफ करने का तरीका जानने के लिए गूगल किया था। आफताब ने पुलिस को बताया कि उसने मानव शरीर की रचना के बारे में पढ़ा था ताकि शरीर को काटने में मदद मिल सके। पुलिस ने कहा कि उन्होंने आफताब के इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स को जब्त कर लिया है. गैजेट्स और गूगल सर्च हिस्ट्री को वेरिफाई करने के बाद पुलिस आफताब के कबूलनामे को साबित कर सकती है।

दक्षिण जिले के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त अंकित चौहान ने बताया कि श्रद्धा मलाड़, मुंबई में रहती थी और आफताब भी मुंबई का रहने वाला है। दोनों की बोंबल डेटिंग एप के जरिए दोस्ती हुई थी। जल्द ही दोनों में प्यार हो गया और मुंबई में सहमति संबंधों में रहने लगे थे।

जांच में सामने आया है कि कुछ समय बाद ही इनमें झगड़ा हो गया। ये एक-दूसरे पर संदेह करते थे। इस कारण इनमें झगड़ा होता रहता था। इनको लगा कि वह बाहर घूमने जाएंगे तो सब ठीक हो जाएगा। ये हिमाचल प्रदेश घूमने के बाद दिल्ली आ गए। 15 मई को इन्होंने छतरपुर, महरौली में किराए पर कमरा लिया। तीसरे दिन ही 18 मई को इनमें झगड़ा हो गया और आफताब ने एक हाथ से श्रद्धा का मुंह दबाया। जब श्रद्धा चिल्लाने लगी तो उसने दूसरे हाथ से उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद उसने शव को बाथरूम में रखा।

आफताब रात दो बजे फ्रीज से एक शव का एक टुकड़ा निकलता और महरौली के जंगल में फेंक आता। इधर जब श्रद्धा सोशल मीडिया पर एक्टिव नहीं दिखी तो उसके दोस्तों ने अनहोनी की आशंका को लेकर पिता विकास वाकर को बताई। पिता विकास को उसके दोस्तों से बेटी की जानकारी मिलती रहती थी। बाद में बेटी के बारे में जानकारी मिलनी बंद हो गई। श्रृद्धा के फोन पर भी संपर्क किया गया, मगर वह बंद मिला। किसी अनहोनी की आशंका के चलते वह आठ नवंबर को छतरपुर स्थित फ्लैट पर गए। वहां पर फ्लैट बंद मिला। इसके बाद उन्होंने महरौली जाकर एसीपी विनोद नारंग को शिकायत दी और एफआईआर दर्ज कराई।

महरौली पुलिस ने आफताब को कोर्ट में पेश कर पांच दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है, ताकि श्रद्धा के शव के टुकड़ों को ढूंढा जा सके और पूरी साजिश का पर्दाफाश किया जा सके। पुलिस को सोमवार शाम कर श्रृद्धा के शव के करीब 13 टुकड़े मिल गए है। सभी टुकड़े हड्डियों मे रूप में मिल रहे हैं। पुलिस ने उससे सख्ती से पूछताछ की तो उसने सच उगल दिया। आफताब को किसी तरह का पछतावा नहीं है। दिल्ली महिला आयोग स्वाति मालीवाल ने महरौली इलाके में श्रद्धा हत्या मामले में संज्ञान लिया है। इस संबंध में आयोग ने दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया है।

Leave a Comment