अरब देशों में रह रहे भारतीयों के लिए खुशखबरी, अब भेज सकेंगे अधिक पैसा ! सरकार ने बदला नियम, रेमिटेंस में…

भारतीय नागरिक विदेशों में पैसा कमाने के लिए बहुत इच्छुक होते हैं. खास तौर पर यूएई, कुवैत समेत कई अरब देशों में बड़ी तदाद में भारतीय प्रवासी रह रहे हैं इसमें से ज्यादा भारतीय नागरिक हर वर्ष भारत में रह रहे परिवार को पैसा भेजते हैं. तो जानिए अगर जो भारतीय भारत पैसा भेजते हैं. अब सरकार ने रेमिटेंस के नियमों में बदलाव किया है।

जानिए क्या हुआ रेमिटेंस में बदलाव

रेमिटेंस यानी कि जो विदेशों से भारत में पैसा भेजते हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने विदेशी अनुदान (विनियमन) अभी नियम (FCRA) से जुड़े हुए कुछ रूल्स बदले हैं। जिन रेमिटेंस के नियमों में बदलाव किया गए हैं उसके मुताबिक भारतीय नागरिक संबंधित अधिकारियों को बगैर सूचना दिए विदेश में रहने वाले रिश्तेदारों से 1 साल में 1000000 रुपए तक ले सकते हैं। इस पर कोई रोक नहीं होगी।

rate

30 दिन शब्दों की जगह पर 3 माह तक अंकित किए जाएंगे

आपको बताते चलें कि इसके पहले यह अनुमति केवल 1 लाख रुपए तक की थी। इसे अब 10 गुना किया गया है। गृह मंत्रालय की ओर से जारी की गई एक अधिसूचना में इस बात की जानकारी देते हुए कहा गया है कि अगर पैसा ज्यादा होगा तो लोगों के पास सरकार को सूचना देने के लिए 90 दिन का समय होगा। अब तक यह समय अवधि 30 दिनों के लिए थी। केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय द्वारा जारी सरकारी अधिसूचना के मुताबिक विदेशी अंशदान (विनियमन) नियम, 2011 के नियम (Rules) 1 लाख रुपए शब्दों की जगह पर अब दस लाख रुपए शब्द लिखे जाएंगे इसके साथ 30 दिन शब्दों की जगह पर 3 माह तक अंकित किए जाएंगे।

exchange

गृह मंत्रालय को देने के लिए 45 दिन का समय

इसके साथ ही आपको बता दें कि नियम -6 विदेश में रिश्तेदारों से धन मंगाने की सूचना से जुड़ा हुआ है। अब इस संशोधित नए नियम ने बीपी संगठन और गैर सरकारी संगठन को बैंक के खाते से संबंधित जानकारी गृह मंत्रालय को देने के लिए 45 दिन का समय दिया है। पहले यह समय 30 दिनों का ही था।

Leave a Comment