Breaking: भारत सरकार ने गेहूं के बाद अब चावल के निर्यात पर लगाया बैन ! क्या होगा UAE के भारतीय प्रवासियों का

भारत सरकार ने गेहूं के निर्यात पर बैन लगाने के बाद अब एक और बड़ा फैसला सुनाया है जहाँ ब्रोकन राइस यानी टूटे चावल के निर्यात पर भी प्रतिबंध लगा देने का फैसला किया है. यानी कि इन चावलों को विदेशों में एक्सपोर्ट करना बैन कर दिया गया. खाड़ी देशों जैसे UAE में भी इसका असर देखने को मिलेगा क्यूंकि वहां भी चावलों का exportation बड़ी तादाद में हुआ करते हैं.

ब्रोकन राइस यानी टूटे चावल के निर्यात पर प्रतिबंध

कृषि मंत्रालय के अनुसार, दुनिया के दूसरे सबसे बड़े उत्पादक दक्षिण एशियाई देश भारत में चावल का कुल रकबा इस सीजन में अब तक 12% गिर गया है। देश में खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भारत सरकार ने ये फैसला किया है। नोटिफिकेशन में बताया गया है कि ब्रोकन राइस यानी टूटे चावल के निर्यात पर प्रतिबंध तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है।

broken

कई इलाकों में कम बारिश की वजह से इस साल चावल का उत्पादन होगा प्रभावित

माना जा रहा है कि देश के कई इलाकों में कम बारिश की वजह से इस साल चावल का उत्पादन प्रभावित हो सकता है। हालात को मद्देनजर भारत में अब खाद्य सुरक्षा के लिए गेहूं और चीनी के बाद ब्रोकन राइस यानी टूटे चावल के निर्यात को भी प्रतिबंधित किया गया है। बता दें कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा चावल एक्सपोर्टर है। लेकिन पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश जैसे चावल उत्पादन वाले प्रमुख राज्यों में औसत से कम बारिश ने चावल की पैदावार को लेकर चिंता बढ़ा दी है.

Leave a Comment