Homegulf5 अगस्त: जानिए अरब देशों की 10 बड़ी खबरें विस्तार से !

5 अगस्त: जानिए अरब देशों की 10 बड़ी खबरें विस्तार से !

1. सऊदी के मदीना मस्जिद के अपमान पर सऊदी अरब ने छह पाकिस्तानियों को भेजा जेल !

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की सऊदी अरब यात्रा के दौरान मदीना में मस्जिद-ए-नबावी (पीबीयूएच) की पवित्रता का उल्लंघन करने के आरोप में सऊदी अरब ने पाक के 6 नागरिकों को दोषी ठहराया है. इनमें से तीन नागरिकों को 10 साल की जेल, जबकि 3 को 8 साल की जेल की सजा सुनाई गई है. साथ ही इनपर 20,000-20,000 का जुर्माना भी लगाया गया है.

इस साल अप्रैल में शाहबाज़ शरीफ पाकिस्तान के प्रधान मंत्री बनने के बाद सऊदी अरब गए थे. इस दौरान प्रदर्शनकारियों के एक समूह ने, जो कथित तौर पर पीटीआई से जुड़े थे. उन्होंने मदीना में मस्जिद-ए-नबावी के अंदर पीएम शहबाज शरीफ और उनके प्रतिनिधिमंडल के खिलाफ जोर-जोर से नारेबाजी की थी. प्रदर्शनकारियों ने उन्हें देखकर “चोर, चोर, चोर” के नारे लगाने शुरू कर दिए थे. इसके अलावा मरियम नवाज के खिलाफ भी आपत्तिजनक नारे लगाए गए थे.

यही नहीं प्रदर्शनकारियों ने जेडब्ल्यूपी प्रमुख और नारकोटिक्स कंट्रोल के संघीय मंत्री शाहज़ैन बुगती के साथ भी दुर्व्यवहार किया और उनके बाल खींच लिए थे. प्रदर्शनकारी इस पूरे घटनाक्रम का मोबाइल से वीडियो भी बनाते रहे. इसे लेकर काफी हंगामा हुआ. सऊदी अरब सरकार ने मामले की जांच के आदेश दिए. इस दौरान पाया गया कि प्रदर्शनकारियों ने मस्जिद-ए-नबावी की पवित्रता का उल्लंघन किया है. इसके बाद मामला कोर्ट तक पहुंचा और अब कोर्ट ने इन्हें दोषी करार दिया है.

2. UAE Scam Alert: free round-trip tickets के ऑफर है सरासर झूठ ! धोखाधड़ी के शिकार लोगों को लौटाए गए Dh21 मिलियन

अमीरात एयरलाइन ने अफवाहों को लेकर ऑफिसियल घोषणा करते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर जो इन दिनों free round-trip tickets के ऑफर चलाये जा रहे हैं वे सरासर Fake हैं.

दरअसल सोशल मीडिया पोस्ट पर ये खबर तेज़ी से वायरल होता दिख रहा है कि जिसमें लोगों से चार सवालों के जवाब देने और यूरोप, एशिया या घरेलू उड़ानों के लिए दो राउंड ट्रिप टिकट जीतने का ऑफर दिया जा रहा है. अमीरात इस बात से अवगत है कि सस्ता होने के संबंध में ऑनलाइन प्रतियोगिताएं चल रही हैं। यह एक ऑफिसियल प्रतियोगिता नहीं है और हम सावधानी बरतने की सलाह देते हैं.

emirates fake offer

यूएई में सार्वजनिक और निजी दोनों संस्थाएं यूएई के निवासियों के लिए बार-बार सलाह जारी करती हैं, उनसे साइबर धोखाधड़ी से खुद को बचाने के लिए केवल ऑफिसियल और विश्वसनीय स्रोतों से जानकारी लेने को कहा गया है.

3. 10वीं पास किसान कर रहा 3 करोड़ की कमाई, सऊदी अरब का खजूर उगाया ! अखरोट-अंजीर से भी महंगा

खाने की चीज़ों में मेवा बहुत महंगे खाद्य पदार्थों में से है और मेवों में भी अलग-अलग तरह के मेवे हैं जिनकी कीमत सुनकर आप भी चौक जाएंगे। जैसे कि अखरोट-अंजीर महंगे मेवों में से आता है. मगर अब एक खबर आ रही है कि राजस्थान के मारवाड़ इलाके के जालोर में सबसे महंगे खजूर की खेती की जा रही है।

जिले में पहले बारिश के समय में ही खेती होती थी, लेकिन 2008 में नर्मदा नहर आने के बाद इस इलाके में दूसरी फसलें भी होने लगीं। अब खजूर की खेती में इनोवेशन के जरिए किसान साल के करोड़ों रुपए कमा रहे हैं। ऐसे ही एक किसान हैं दाता गांव के रहने वाले जिनका नाम केहरा राम है. 10वीं पास किसान केहराराम ने 4 हेक्टेयर में सऊदी और साउथ अफ्रीका के सबसे महंगे खजूर मेडजूल और बरी की खेती शुरू की।

ढाई साल में इस पर फ्रूट आना शुरू हो गए और अब सालाना कमाई 3 करोड़ रुपए है. केहराराम ने बताया कि साल 2012 में उन्हें ये आईडिया आया था. मैं 2012 में गुजरात गया और खजूर के खेती की जानकारी ली। वहां इजराइली तकनीक पर मेडजूल खजूर की खेती की जा रही है। इसलिए मैंने भी मेडजूल की खेती करने का निर्णय लिया।

किसान कोहराराम ने पौधे ऑर्डर किए और ढाई साल बाद इसकी सप्लाई होने पर इसकी खेती शुरू की. खजूर की इस किस्म को ऑर्गेनिक तरीके से तैयार किया जाता है. खजूर की यह किस्म राज्य के 12 जिलों जालोर, बाड़मेर, चूरू, जैसलमेर, सिरोही, श्रीगंगानगर, जोधपुर, हनुमानगढ़, नागौर, पाली, बीकानेर व झुंझुनूं में पैदा हो रही है।

kehraram

4. विमान में बैठने वाले यात्रियों को अब नहीं होगी दिक्क्त, दर्द खत्म… जानिए क्या है सऊदी मंत्रालय का निर्देश

विमान में बैठने वाले कुछ लोगों को हमेशा कान दर्द के तकलीफ को झेलना पड़ता है. ऐसा क्यों होता है और ऐसा होने पर यात्रियों को क्या करना चाहिए इसी से जुडी कुछ जानकारियां सऊदी स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी है.

सऊदी अरब के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि विमान यात्रा के दौरान कान में दर्द ऊंचाई के कारण होता है. मंत्रालय का कहना है कि ‘ऊंचाई पर यात्रा करने से विमान में हवा का दबाव बढ़ जाता है, जिससे कभी-कभी कानों में दर्द होता है. मंत्रालय के मुताबिक, ‘कान कभी बंद महसूस होते हैं, कभी कान बजने लगते हैं तो कभी चक्कर आने लगता है.

मंत्रालय ने समझाया, “यह एक शारीरिक स्थिति है और जम्हाई, च्युइंग गम या कफ निगलने से इसका इलाज किया जा सकता है. टेक-ऑफ या लैंडिंग के दौरान सोने से बचना बेहतर है। सर्दी के दौरान यात्रा न करें और यदि आवश्यक हो तो कानों के लिए एक विशेष उपकरण का उपयोग करें। सऊदी स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि ‘जिन लोगों को ज्यादा परेशानी होती है वे डॉक्टर की सलाह भी ले सकते हैं.

5. केरल से पैदल हज यात्रा पर निकले शिहाब ! दुनिया कर रही सलाम, 280 दिनों में पहुंचेंगे मक्का-मदीना

पिछले महीने ही हज यात्रा मुकम्मल हुई है और फिर से कुछ श्रध्दालुओं में इसके प्रति उत्सुकता बढ़ गयी. जो बहुत काबिले तारीफ़ है. उत्सुकता केरल के मलप्पुरम का रहने वाले निवासी मे देखी गयी है. जो अभी से ही सऊदी अरब में हज करने के लिए पैदल निकल पड़े हैं. इस शख्स का नाम शिहाब चोट्टुर है. जो हज यात्रा के लिए निकल चुके हैं पैदल और वे अभी राजस्थान के उदयपुर तक पहुंचे हैं.

अपनी पैदल हज यात्रा में शिहाब पाकिस्तान, ईरान, इराक, कुवैत होते हुए सऊदी अरब में दाखिल होंगे। रास्ते में पड़ने वाले हर शहर में शिहाब का स्वागत करने वालों की भीड़ इकठ्ठा हो जा रही है, जिससे पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है. केरल से सऊदी अरब के मक्का शहर की दूरी लगभग 8460 किलो मीटर की है जिसे शिहाब पैदल ही तय कर रहे हैं।

29 वर्षीय शिहाब का कहना है कि अगले साल 2023 में होने वाले हज का हिस्सा वे इंशा अल्लाह ज़रूर बनेगे। अनुमान के मुताबिक शिहाब 8460 किलोमीटर की अपनी यात्रा 280 दिनों में पूरी कर लेंगे।

allah banda

6. सऊदी अरब में तेज़ रेतीले तूफ़ान का High Alert ! समेत इन इलाकों में शनिवार तक होगी झमाझम बारिश

सऊदी अरब के अल सलिल कमिश्नरेट में तेज़ी से धूल भरी आंधियां चल रही है. जिससे आसमानो में धुंध-धुंध ही हो गया. भारी धूल के कारण पूरा अंधेरा भी छा गया. राष्ट्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने पहले गुरुवार को राज्य के विभिन्न हिस्सों में धूल भरी आंधी चलने की उम्मीद की थी और तेज हवाओं के कारण दृश्यता सीमित होगी।

साथ ही बहा और मदीना में मक्का और ताइफ के बीच धूल भरी आंधी भी आई है. राष्ट्रीय मौसम विज्ञान केंद्र का कहना है कि बारिश शनिवार तक जारी रहने की संभावना है। नज़रान, बहा, असिर और जज़ान में बारिश हो रही है। नेशनल सेंटर ने उम्मीद जताई है कि यह सिलसिला शनिवार तक जारी रह सकता है।

7. सऊदी की महिला कामगार illegal Documents दिखाकर करती थी काम… अचानक फरार, अब है शेल्टर होम में

सऊदी अरब की एक महिला कामगार पर हिंसा हुआ है और महिला कामगार के खिलाफ ये मामला दर्ज है कि वो अपने मालिक के घर से भाग गयी है. इसकी सुचना जैसे ही प्रशासन तक पहुंची वे अलर्ट हो गए और कार्रवाई करते हुए खोजबीन शुरू कर दी.

जानकारी ये निकलकर सामने आ रही है कि पीड़िता ने अपने नियोक्ता को छोड़ दिया था और दूसरे लोगों के घर जाकर काम करने लगी थी। जब यह बात उन लोगों को पता चली तो उसके खिलाफ हिंसा शुरू कर दी गई। वह जहां काम करती थी वहां पर तीन महिलाओं और एक पुरुष ने मिलकर उसे मारा पिटा। वह वहां पर बिना किसी लीगल डॉक्यूमेंट के ही काम कर रही थी।

इसलिए उसे अधिक परेशानी उठानी पड़ी। लोक अभियोजक को जानकारी मिलते ही महिला कामगार को बचा लिया गया और उसे शेल्टर होम में भेज दिया गया है.

8. सऊदी अरब में महिलाएं धड़ाधड़ हिजाब उतार-फेंककर कटा रही Boy Cut बाल ! कहा रहेंगे सुरक्षित, इस्लामिक कल्चर…

सऊदी अरब में इस्लामिक कानून माना जाता है और यहां का कानून बहुत ही कड़ा है. साथ ही महिलाओं के प्रति रूढ़िवादिता के लिए दुनियाभर में जाना जाता है. मगर अब सोइड महिलाओं का रहन सहन बदलता हुआ दिख रहा है इसका ख़ास कारण ये भी है कि सऊदी हुकूमत महिलाओं को अब आत्म निर्भर बना रही है, जिससे वे भी पुरुष की तरह खुद के पैरों पे खड़ी हो सके. अब उनके लिए सिर को हिजाब से ढंकना या फिर स्कार्फ से कवर करना अनिवार्य नहीं रहा है.

जैसा कि सऊदी अरब में अधिकतर महिलाएं हिजाब पहनती हैं. कुछ चंद गिनी चुनी महिलाएं ही ऐसी हैं जो हिजाब,नकाब,अबाया न पहनती हो. मगर सऊदी अरब की महिलाएं अपना रूप बदलने लगी हैं और खुद को छोटे बालों में रखना भी पसंद कर रही हैं. ऐसी ही कहानी है, यहां की एक डॉक्टर साफी की. ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, जब साफी को अस्पताल में नई नौकरी मिली, तो उन्होंने अपने बालों को छोटा कराना बेहतर समझा. ताकि वो लैब कोट के साथ खुद को स्टाइलिश दिखा सकें. यहां वह रियाद के एक सैलून में गईं और अपनी पसंद से बालों की कटिंग करवाई.

saudi women short hair

देश में दफ्तर जाने वाली महिलाओं के बीच ये चलन तेजी से बढ़ रहा है. इस हेयरकट को यहां अंग्रेजी में ‘बॉय’ भी कहा जाता है. . वह जैसे चाहे वैसे रह सकती हैं. अब राजधानी रियाद में ऐसी महिलाएं भी घूमते हुए दिख जाती हैं, जो छोटे बाल रखना पसंद करती हैं. कई महिलाएं छोटे बालों यानी ‘बॉय कट’ को व्यावहारिक, पेशेवर विकल्प बता रही हैं. छोटे बाल रखने का एक और कारण महिलाएं बता रही हैं कि उन पर से पुरुषों का ध्यान हटा रहे ताकि वे सुरक्षित होकर काम कर सके.

9. अभी तुरंत भेजिए सऊदी से पैसा भारत, आज जुमे की रोज़ Exchange Rate पर कितना मिलेगा मुनाफा !

सऊदी अरब में विभिन्न लेनदेन केंद्रों के अनुसार, आज 5 अगस्त को ताज़ा सऊदी रियाल की एक्सचेंज रेट जारी हुआ है.nजिसे जानना प्रवासी और विदेशी भारतीयों के लिए अनिवार्य है. भारत को प्रेषण के लिए रियाल दर, लेनदेन केंद्र का नाम और शुल्क के साथ लेनदेन fees पर VAT जारी किया गया है.

भारत के लिए नया एक्सचेंज रेट

इंस्टेंट (बैंक अल जज़ीरा): 20 रुपये 48 पैसे, शुल्क: 10 रियाल
एसटीसी वेतन: 20 रुपये 64 पैसे, शुल्क: 17.25 रियाल
अल-राझी जमा (अल-राझी बैंक): 20 रुपये 89 पैसे, शुल्क: 20 रियाल
वेस्टर्न यूनियन (भेजना): 20 रुपये 73 पैसे, शुल्क: 17.25 रियाल
मनीग्राम: 20 रुपये 69 पैसे, शुल्क: 23 रियाल
अंजाज़ बैंक (बैंक अल-बलाद): 20 रुपये 84 पैसे, शुल्क: 15 रियाल

exchange rate

10. जानिये सऊदी अरब में कब से होगा Toll Tax की शुरुआत ! इनसे नहीं वसूला जाएगा टैक्स

सऊदी अरब के रोड जनरल अथॉरिटी एक साल के भीतर टोल टैक्स के फैसले को लागू करने जा रही है. सूत्रों के मुताबिक ऐसे हाईवे पर टोल टैक्स लगाया जाएगा जहां वैकल्पिक सड़कें होंगी और इनका इस्तेमाल करने वालों से कोई टैक्स नहीं वसूला जाएगा. जानकार सूत्रों ने आगे बताया कि रोड जनरल अथॉरिटी निजी क्षेत्र की भागीदारी से टोल टैक्स लागू करेगी.

टोल सड़कों का निर्माण, रखरखाव और टोल टैक्स की वसूली निजी क्षेत्र से ली जाएगी। सड़क प्राधिकरण सऊदी सड़कों के नेटवर्क के आधुनिकीकरण के लिए योजनाएं विकसित कर रहा है। सड़कों की गुणवत्ता में सुधार, उच्चतम सुरक्षा व्यवस्था करने और तकनीकी रूप से सड़क मानकों को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित किया गया है।

toll tax

रोड अथॉरिटी सऊदी अरब रोड स्टैंडर्ड ग्राफ में दुनिया में छठा स्थान हासिल करने का प्रयास कर रही है। राज्य के विभिन्न क्षेत्रों के बीच लोगों और सामानों को स्थानांतरित करने की प्रक्रिया को आसान और सुरक्षित बनाने के लिए प्रमुख शहरों, कमिश्नरियों और तहसीलों को जोड़ने वाले राजमार्गों का दायरा बढ़ाने पर भी काम चल रहा है.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular