Homegulf3 August: फटाफट जानिए अरब देशों की Top 10 News

3 August: फटाफट जानिए अरब देशों की Top 10 News

1. क्या एक Commercial Visa को Residency Visa में बदला जा सकता है !

-----------------------------------------------------------------------------------------------------------

सऊदी अरब में दुनिया भर के विदेशी कामगार काम किया करते हैं और यहाँ रहने के लिए उन्हें अस्थायी आधार पर विज़िट वीज़ा दिया जाता है. जबकि व्यावसायिक आधार पर पेशेवरों या श्रमिकों को जारी किए गए अस्थायी वीज़ा को commercial विज़िट वीज़ा कहा जाता है।

क्या एक Commercial Visa को Residency Visa में बदला जा सकता ?

जवाज़ात ने जवाब देते हुए कहा कि विजिट वीजा को इकामा में नहीं बदला जा सकता। यात्रा वीजा पर देश में प्रवेश करने वाले व्यक्तियों को निर्दिष्ट अवधि पूरी करने के बाद वापस लौटना होता है। कमर्शियल विजिट वीजा की अवधि बढ़ाने के संबंध में कहा गया था कि वीजा की अवधि समाप्त होने से पहले 7 दिन या उससे कम समय होने पर एक्सटेंड किया जा सकता है, लेकिन यह ध्यान में रखा जाना चाहिए कि समाप्ति अवधि 3 दिनों से है, इसे ज़्यादा मत करो। कमर्शियल यात्रा वीजा पर आने वाले व्यक्ति को देश में उपस्थित होना चाहिए। वीजा का डिजिटल विस्तार केवल एक बार किया जाता है। अधिकतम विस्तार अवधि 180 दिन है।

commercial residency

2. शादी के बाद पति के साथ चली गयी सऊदी अरब ! फिर भागकर आयी भारत और निकाल लिया UPSC… बनी IPS

कन्नौज में रहने वाली डॉ. बुशरा बानो जिनकी बचपन से एक ही ख्वाहिश थी कि वो UPSC निकाले। उनका पढ़ाई में दिल हमेशा लगता था जिस दिन वो पढ़ नहीं पाती थी उन्हें ऐसा मालूम होता था कि मानो उन्हें साँस ही नहीं आ रही हो. ऐसा उन्होंने खुद अपने इंटरव्यू में कहा है.

दो बहन और एक भाई में सबसे बड़ी मैं। घर में बड़ी थी तो अपनी जिम्मेदारियां भी समझती थी। बीएससी करने के बाद लखनऊ से एमबीए किया। इसी दौरान नेट की परीक्षा पास कर ली। अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी से पीएचडी की। पीएचडी करते-करते आगरा के एक मैनेजमेंट कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर भी रही। यहां दो साल तक बच्चों को पढ़ाया।

aligarh में ही 2014 में PHD करते करते उनकी शादी हो गयी और तब उनकी उम्र 25 साल थी फिर वो अपने पति के साथ सऊदी अरब चली गयी और वहां प्रोफेसर की जॉब करने लगी. मगर सऊदी में उनका मन नहीं लगता था. वो यही सोचती रहती थी कि उनका बचपन का एक ख्वाब था UPSC निकालना वो कहाँ गया. मैं यहाँ सऊदी में क्या कर रही हूँ मुझे भारत जाना चाहिए और वहां अपनी तयारी करनी चाहिए। बस बोरिया-बिस्तर, उतरा हुआ मन सब समेटा और चल दिए अपने देश। भारत आते ही यूपीएससी की तैयारी में खुद को झोंक दिया।

dr. bushra bano

इंडियन रेलवे ट्रैफिक सर्विस

इसी बीच कोल इंडिया में वैकेंसी निकली और मैंने फॉर्म भर दिया। कोल इंडिया का एग्जाम पास करने के बाद असिस्टेंट मैनेजर का काम किया। नौकरी करते-करते यूपीएससी की तैयारी भी करती रही। फिर साल 2018 में यूपीएससी में सिलेक्शन हो गया और 277वीं रैंक आई। मुझे इंडियन रेलवे ट्रैफिक सर्विस मिला।

इसी साल पीसीएस की परीक्षा में बैठी और छठी रैंक आई। अब फिरोजाबाद में बतौर एसडीएम पद पर पिछले दो साल से कार्यरत हूं। ऐसा नहीं था कि सरकारी नौकरी मिल गई है तो अब पढ़ना नहीं है। मैंने 2020 में फिर यूपीएससी निकाला और इस बार 234वीं रैंक आई। अब दिसंबर में बतौर आईपीएस जॉइन करना है। हम दोनों हसबैंड-वाइफ ने शादी के वक्त ही तय किया था कि दोनों साथ रहेंगे। हसबैंड पीएचडी कर रहे हैं और अपना बिजनेस चलाते हैं। मेरी जहां भी पोस्टिंग होती है, वहां वे साथ होते हैं।

upsc

3. स्वास्थ्य मंत्रालय ने UAE से कहा, ‘संक्रमण के लक्षणों वाले यात्रियों को जहाज में बैठने की अनुमति न दे !

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने UAE में WHO के प्रतिनिधि को पत्र लिखकर यह सुनिश्चित करने को कहा है कि मंकीपॉक्स से मिलते-जुलते लक्षण वाले यात्रियों को विमान में सवार न होने दिया जाए क्यूंकि इससे देश में संक्रमण फैलने का डर है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने यूएई में विश्व निकाय के कार्यकारी निदेशक और अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य नियमन (आईएचआर) के संपर्क बिंदु डॉ. हुसैन अब्दुल रहमान अली रैंड को लिखे पत्र में भारत में पाए गए तीन संक्रमितों का हवाला दिया, जो खाड़ी देश से लौटे थे. उन्होंने कहा कि भारत आने से पहले ही उनमें मंकीपॉक्स संक्रमण के लक्षण उभरने लगे थे.

4. भारत की ‘नेहा फातिमा’ ने दुबई शेख मकतूम का बनाया खूबसूरत Potrait ! 4 महीनों में बिना परीक्षा दिए… देखिये आप भी उनकी पेंटिंग

भारत की नेहा फातिमा ने एक कमाल कर दिखाया है और ऐसा कमाल की उनकी चर्चा दूर दूर तक हो रही है. दरअसल नेहा ने दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ऐसी खूबसूरत पोट्रेट पेंटिंग बनायी है जिससे शेख भी प्रभावित हुए हैं.

नेहा कहती है कि वह शेख मोहम्मद बिन राशिद से बहुत प्रभावित हैं. वह कहती हैं कि एक बार उन्होंने कहा था, यूएई में हमारे लिए असंभव जैसा कोई शब्द नहीं है. यह हमारी डिक्शनरी में नहीं है. इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल कमजोर और आलसी करते हैं. नेहा ने शेख मकतूम के लिए 400 से अधिक चार्ट पेपर से एक तस्वीर तैयार की है, जिस पर दो लाख से अधिक बार उनका नाम लिखा है.

दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम को अपनी प्रेरणा बताने वाली नेहा फातिमा ने दिन में बीस घंटे तक लगातार काम कर चार महीनों की मेहनत के बाद इस तस्वीर को तैयार किया है. वह 15 जुलाई से पहले इस तस्वीर को तैयार करना चाहती थी ताकि वह शेख मोहम्मद बिन राशिद के जन्मदिन पर उन्हें तोहफे में दे सके. नेहा ने एक तरह से वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है. इस तस्वीर को खुद दुबई शासक को भेंट करने के लिए वह पहली बार दुबई भी पहुंचीं.

sheikh maktoom potrait

वह कहती हैं, मैं उनके लिए कुछ विशेष बनाना चाहती थी. नेहा ने कहा कि शेख ने दुबई को हर पहलू में दुनिया में शीर्ष पर पहुंचाया है. अगर आप मुझसे पूछेंगे कि दुनिया में सबसे अधिक प्रेरक नेता कौन हैं तो मैं शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम का नाम लूंगी.

5. सऊदी अरब में Helper के Jobs की सैलरी कितनी है… निकली सैकड़ों Vacancies तुरंत भरिये Form

सऊदी अरब में हेल्पर जॉब 2022 की नौकरी के बारे में पूरी जानकारी देंगे साथ में हम आपको उन वेबसाइट के लिंक देंगे जहां पर आप हेल्पर जॉब के लिए अप्लाई कर पाएंगे। अगर आपको हेल्पर की जॉब चाहिए तो इस खबर को अंत तक ज़रूर पढ़े.

सऊदी अरब में हेल्पर की सैलरी ज्यादा से ज्यादा Saudi Riyal 33500 हर महीना हो सकती है जो भारतीय रुपए के हिसाब से ₹66,8298 बनती है और कम से कम सऊदी अरब में हेल्पर की सैलरी Saudi Riyal 18000 हर महीने हो सकती हैं जो भारतीय रुपए के हिसाब से ₹35,9086 तक बनती है

Kitchen Helper Saudi Arabia : इस जॉब में आपको रसोई घर में हेल्पर के रूप में काम करना होगा। इस जॉब में आपको खाना बनाना पड़ेगा, बर्तन धोने पड़ेंगे और सभी रसोई घर के काम करने पड़ेंगे। Kitchen Helper Salary Saudi Arabia में Saudi Riyal 1500 तक होगी जो भारतीय रुपए के हिसाब से ₹ 30,000 के लगभग होगी।

jobs saudi arab

नीचे दिए गए लिंक को कॉपी करें और सर्च करके अप्लाई कर सकते हैं :

1. https://www.glassdoor.com/partner/jobListing.htm?pos=101&ao=1136043&s=58&guid=0000018262ccc68d8753ae6187fbdab2&src=GD_JOB_AD&t=SR&vt=w&cs=1_f5c4375e&cb=1659514964108&jobListingId=1006211503400&jrtk=3-0-1g9hcphqvklul801-1g9hcphreihmr800-47d93fa04520af85-

2. https://www.glassdoor.com/partner/jobListing.htm?pos=102&ao=1136043&s=58&guid=0000018262ccc68d8753ae6187fbdab2&src=GD_JOB_AD&t=SR&vt=w&cs=1_35e69593&cb=1659514964108&jobListingId=1007623347343&jrtk=3-0-1g9hcphqvklul801-1g9hcphreihmr800-39f0febd762c586e-

6. कुवैत में बड़ा बदलाव, प्रवासियों के स्थान पर अब नागरिकों को नौकरी देने की तैयारी शुरू !

खाड़ी अरब देश कुवैत में भी अब प्रवासियों पलरा हल्का और नागरिकों का पलरा अधिक भारी होते दिख रहा है. दरअसल कुवैत “Kuwaitisation” की प्रक्रिया शुरू होने वाली है. जिसके तहत कुवैत में प्रवासी कामगारों के स्थान पर ज्यादा से ज्यादा कुवैती नागरिकों को नौकरी देने की कोशिश की जा रही है और इस प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए एक और नया कदम उठाया जाएगा।

कुवैत में नागरिकों के लिए अधिक संख्या में जॉब देने की कोशिश की जा रही है। इस बाबत एक अपडेट निकल कर आ रही है जिसके मुताबिक कुवैत लेबर अधिकारियों ने कहा है कि प्राइवेट सेक्टर में जॉब तलाश कर रहे नागरिकों के लिए एक प्लेटफॉर्म जल्द ही लॉन्च किया जाएगा।

इस प्लेटफॉर्म पर कंपनियों के द्वारा जॉब वेकैंसी की जानकारी दी जाएगी जहां युवा आवेदन कर सकेंगे। बता दें कि Public Authority of Manpower (PAM) “Fakhrana” प्लेटफॉर्म का अपडेटेड वर्जन लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है जिसकी मदद से यह सारी सुविधा मिलेगी।

kuwaitisation

7. एंट्री करने के लिए अब नहीं होगा कोई जाँच, सभी शहर में करा सकते हैं यात्रा !

सऊदी और उमराह मंत्रालय ने विदेशों से उमराह के लिए आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए बड़ी खबर दी है। इन तीर्थयात्रियों को सऊदी में प्रवेश को लेकर नई जानकारी दी गई है। कहा गया है कि पीसीआर टेस्ट की जरूरत नहीं होगी। अगर आप सऊदी में उमराह की तैयारी कर रहे हैं तो आपको प्रवेश के लिए negative PCR test result या rapid antigen test result की जरूरत नहीं है।

8. UAE के कामगारों को बाहर निकलने से पहले रखना होगा ध्यान, नंबर प्लेट न दिखने पर हज़ारों का जुर्माना

Abu Dhabi में अगर आप वाहन चला रहे हैं तो आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि वाहन का लाइसेंस प्लेट अच्छी तरह दिखे। अबू धाबी पुलिस ने ट्विटर के माध्यम से बताया है कि वाहन के नंबर प्लेट को छुपाना कानून में अपराध मना गया है और अगर कोई ऐसा करते हुए पकड़ाता है तो उसपर Dh400 का जुर्माना लगाया जा सकता है।

अधिकारियों ने कहा है कि सुरक्षा के मद्देनजर आपका वाहन नंबर प्लेट हमेशा ही साफ साफ दिखना चाहिए। अगर सामान की वजह से नंबर प्लेट ढक जाता है तो Abu Dhabi Police station service centres से एक्स्ट्रा नंबर प्लेट ले कर इस्तेमाल कर सकते हैं। बता दे कि इस साल 6 महीने के अंदर 4,200 ड्राइवर पर जुर्माना लगाया गया है.

uae road

9. सऊदी अरब से अभी भारत भेजिए पैसा, होगा मुनाफा या नहीं, चेक कीजिये आज का ताज़ा रियाल Exchange Rate !

सऊदी अरब में विभिन्न लेनदेन केंद्रों के अनुसार, आज 3 अगस्त को ताज़ा सऊदी रियाल की एक्सचेंज रेट जारी हुआ है.जिसे जानना प्रवासी और विदेशी भारतीयों या पाकिस्तानियों के लिए अनिवार्य है. पाकिस्तान, भारत को प्रेषण के लिए रियाल दर, लेनदेन केंद्र का नाम और शुल्क के साथ लेनदेन fees पर VAT जारी किया गया है.

भारत के लिए नया एक्सचेंज रेट

इंस्टेंट (बैंक अल जज़ीरा): 20 रुपये 66 पैसे, शुल्क: 10 रियाल
एसटीसी वेतन: 20 रुपये 54 पैसे, शुल्क: 17.25 रियाल
अल-राझी जमा (अल-राझी बैंक): 20 रुपये 80 पैसे, शुल्क: 20 रियाल
वेस्टर्न यूनियन (भेजना): 20 रुपये 65 पैसे, शुल्क: 17.25 रियाल
मनीग्राम: 20 रुपये 62 पैसे, शुल्क: 23 रियाल
अंजाज़ बैंक (बैंक अल-बलाद): 20 रुपये 76 पैसे, शुल्क: 15 रियाल

riyal

10. सऊदी सरकार ने कर दी बड़ी घोषणा, भारतीयों की हो गई बल्ले-बल्ले, अब नहीं लगेगा TAX

सऊदी official नें कहा कि एक ही सामान पर दो बार वैट यानि value added tax नहीं लगाया जायेगा। सऊदी अरब के ज़कात, tax and customs authority (ZATCA) ने तस्दीक की कि एक ही सामान और सेवाओं पर दो बार मूल्य वर्धित कर (वैट) नहीं लगाया जाता है। ZATCA ने संकेत दिया कि सभी आइटम और सेवाएं 15% की दर से वैट के मातहत हैं.

यदि वे वैट सिस्टम में registered किसी establishment या business owner के तरफ से प्रदान की जाती हैं। Authority ने कहा कि एक ही सामान या सेवा पर दो बार मूल्य वर्धित कर लगाना खिलाफ वर्जी है, यह देखते हुए कि कोई शख्स वैट ऐप या वेबसाइट के ज़रिये एक रिपोर्ट जमा कर सकता है और verification के लिए खिलाफ वर्जि का सबूत attach कर सकता है।

ZATCA का clarification एक शख्श द्वारा एक स्टोर से खरीदारी करने के वजह से आया, जिसमें यह मालूमात हुआ कि यह कुछ चीज़ो को खरीदते वक़्त दो बार मूल्य वर्धित कर की calculation करता है।

zakat tax

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular