बिहार के छात्र ने MHRD SAMADHAN में दिया आइडिया, बिना छुए हाथ में आ जाता है सैनेटाइजर!

बिहार के छात्र ने MHRD SAMADHAN में दिया आइडिया, बिना छुए हाथ में आ जाता है सैनेटाइजर!

कोरोना वायरस के कारण दुनिया महामारी की स्थिति से गुजर रही है।दुनिया में बहुत तेजी से कोरोना वा’य’रस बढ़ रहा है, जिसकी वजह से राष्ट्रों की आर्थिक स्थिति दिन-ब-दिन खराब होती जा रही है कोरोनावा’यरस से संक्रमण की संभावना कम होती है यदि हम अपने हाथ को साबुन या हैंड वॉश से नियमित रूप से धोते हैं, स्वच्छता बनाए रखते हैं और अपने आस-पास साफ करते हैं।

हैंडवाश साबुन से बेहतर है क्योंकि हमें हैंडवाश को छूना नहीं पड़ता है लेकिन हमें दुर्भाग्य से साबुन को छूना पड़ता है। हैंडवाश का उपयोग करते समय हमें हैडवॉश की बोतल की नोक को छूना पडता है, हम कुछ इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का उपयोग कर के टचलेस हैडवॉश बना सकते हैं जिसमें उपयोग होने वाली उपकरण है।

पूरा विडियो देखें कैसे काम करता है ये मशीन

1) अरुडिनो नैनो

2)माइक्रो सर्वो

3) अल्ट्रासोनिक सेंसर Hs Sr04

तो हम इन इलेक्ट्रॉनिक उपरनो का इसतेमाल कर के टचलेस डिवाइस को बना सकते हैं जो सैनिटाइजर गिरा सकता है बिना छुए। जब सेंसर माइक्रोचिप को अनुरोध भेजा जाता हैं जो कंप्यूटर द्वारा प्रोग्राम किया गया है यह मॉटर को शक्ति प्रदान करता है और उसके बाद मॉटर ने इस पुस बल को सैनिटाइज़र सिर के नीब पर लगाना शुरू कर देता है और इसे तुरंत खींचता है इस तरल हैंडवाश के ड्रॉप उपयोगकर्ता के हाथ पर गिरता है। एक संवेदन केवल एक बार बोतल के सिर को दबागा।

बता दें कि इसको बनाने में अक्षय कुमार,शिवम कुमार,प्रिन्स कुमार और यश रंजन ने मिलकर बनाया है। इन्होंने अपने टीम का नाम innovus रखा है।

ऐसे लोगों को हमारा सलाम है

Share this story