1 लाख प्रवासियों पर फिर गिरे गाज, 2020 के अंत तक देश छोड़ने पर हुए मजबूर !

1 लाख प्रवासियों पर फिर गिरे गाज, 2020 के अंत तक देश छोड़ने पर हुए मजबूर !

कुवैत देश से बड़ी खबर सामने आई है, जहाँ लगभग 450 फर्जी कंपनी धो/खे बा’ज़ निकले. इन कंपनियों ने 1 लाख प्रवासियों को ब/र्बा’द कर दिया है. दरअसल इन कंपनियों को प्रवासियों के वीजा बेचने के आ/रो’प में पकड़ा गया है. अब इन प्रवासियों को इस साल के अं’त तक देश छो’ड़ना पड़ेगा.

जांच में पता चला कि एक्सपैट ने कभी भी इन कंपनियों के साथ काम नहीं किया. भले ही वे अपने प्रायोजन पर थे. इसलिए अब कंपनियों की फाइलें बं’द हो जाएंगी. साथ ही इन कंपनियों की कोई commercial गतिविधि भी नहीं थी. फिर भी कुल 1लाख मजदूरों को उनके द्वारा प्रायोजित किया गया था.

1 लाख प्रवासियों पर फिर गिरे गाज, 2020 के अंत तक देश छोड़ने पर हुए मजबूर !

इन कंपनियों ने वीजा जारी किए थे. इस पर सरकार अब क/ठो’र कदम उठाने वाली है. कई फार्म वीजा व्यापार का एक स्रोत था क्योंकि वीजा जारी किए गए थे और कर्मचारी कहीं और काम कर रहे थे. जनसँख्या को सं’तुलित रखने के लिए सरकार पहले की कंपनियों द्वारा वीजा व्यापार को नियंत्रित करने के लिए लगातार कोशिश में लगी है.

1 लाख प्रवासियों पर फिर गिरे गाज, 2020 के अंत तक देश छोड़ने पर हुए मजबूर !

यह अनुमान लगाया गया था कि दो साल पहले 2018-2019 के दौरान लगभग 66 मिलियन दीनार अ/र्जित किए गए थे, क्योंकि अरब और एशियाई देशों से लगभग 30 हजार श्र’मिकों को लाया गया. जिसकी कुल कीमत केडी 45 मिलियन थी.

नेतृत्व के निर्देश वीज़ा व्यापारियों को ब’र्दाश्त नहीं करने और जिनकी फ़ाइल न/क’ली थी, उन कंपनी पर क’रवा’ई करना था. अब वर्तमान में आंतरिक मंत्रालय और अन्य संबंधित प्राधिकारियों के बीच खतरे को नियंत्रित करने के लिए गहन समन्वय चल रहा है.

Share this story